Connect with us

Jivani

Lionel Messi Biography In Hindi: लिओनेल मेस्सी का जीवन परिचय हिंदी में

Lionel Messi Biography In Hindi

हमारे बीच कुछ ऐसे व्यक्ति भी होते है, जो अपने जीवन में आने वाली केवल थोड़ी सी ही मुश्किलों से डर जाते है और जीवन में हार मान लेते है। लेकिन हमारे बीच इसी दुनिया में कुछ ऐसे भी व्यक्ति होते है। जो अपने जीवन में तमाम तरह की मुश्किलों को पार करते हुए आगे बढ़ते है और एक दिन दुनिया में अपनी सफलता का परचम फहराते है।

इस दुनिया में कई सारे सफलतम व्यक्ति मौजूद है, जिन्होंने अपने जीवन के शुरुआती संघर्ष तथा असफलताओ को अपनी वर्तमान की सफलता से पूरी तरह से भुला दिया है। वर्तमान समय में किसी भी तरह का खेल हो भला वो खेल किसे पसंद नही होता है, लेकिन जहा बाद फुटबॉल खेल की आती है,वहा फुटबॉल की लोकप्रियता के सामने सभी खेल फींके पड़ते दिखाई पड़ते है।

आज हम फुटबॉल के एक ऐसे खिलाडी के बारे में बात करने जा रहे है, जिसके भीतर फुटबॉल खेल के प्रति इतना अधिक जूनून और प्रेम था की खुद गंभीर बीमारियों से ग्रसित होने के बावजूद भी फुटबॉल खेलना नही छोड़ा। लिओनल मेस्सी फुटबॉल खेल का वह लोकप्रिय नाम है जिससे प्रत्येक फुटबॉल प्रेमी अच्छे से वाकिफ है और लिओनल मेस्सी की फुटबॉल के क्षेत्र में लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है की जिस देश के लिए मेस्सी फुटबॉल खेलते है।

उस देश की सरकार ने एक नियम बनाया था जिसके अनुसार वहा के नागरिक अपने बच्चे का नाम मेस्सी नही रख सकते थे। चूँकि लिओनल मेस्सी बहुत अधिक लोकप्रिय है, इसलिए वहा की सरकार को बच्चो के जैसे नाम होने की वजह से उनके बीच की पहचान करना मुश्किल हो जाता है। आज के इस आर्टिकल में हम Lionel Messi Biography In Hindi तथा लिओनेल मेस्सी का जीवन परिचय हिंदी में देखेंगे।

1 Name Lionel Andrés Messi
2 Age 33 Years, ( 24 June, 1987 )
3 Profession Argentine Professional Footballer,
4 Known As Captains Both the Spanish club Barcelona and the Argentina National Team.
5 Networth $400 Million ( £309 million )
6 Wife Antonella Roccuzzo
7 Children’s Thiago Messi Roccuzzo, Mateo Messi Roccuzzo, Ciro Messi Roccuzzo.
8 Father/Mother Jorge Messi / Celia María Cuccittini

9 Religion Catholic
10 Nationality Argentine, Spanish.

Lionel Messi का बचपन:

वर्तमान में फुटबॉल खेल के सबसे लोकप्रिय और चहेते खिलाडी लिओनल मेस्सी का जन्म 24 जून, 1987 को अर्जेंटीना के रुसारियो में हुआ था। लिओनल मेस्सी के पिता का नाम जोर्ग मेस्सी था जो एक फैक्ट्री में मजदूर के रूप में काम करते थे। लिओनल मेस्सी की माँ का नाम सेलिया मारिया था। चूँकि लिओनल मेस्सी के पिता एक एक सामान्य सी नौकरी ही करते थे, इसलिए मेस्सी के परिवार के आर्थिक हालात बहुत कमजोर थे। मेस्सी के अलावा उनके परिवार में दो बड़े रोड्रिगो तथा मेशियस है तथा मेस्सी की एक बहन भी है जिनका नाम मारिया सोल है।

Lionel Messi की फुटबॉल के प्रति रूचि:

सैभाग्य से मेस्सी के पिता पास में ही एक फुटबॉल क्लब में प्रशिक्षक का काम करते थे। इसलिए लिओनल मेस्सी ने अपने पता जोर्ज द्वारा ट्रेनिंग दिए जाने वाले घर के पास ही में एक फुटबॉल क्लब ग्रंडोली के लिए मात्र 5 वर्ष की उम्र से ही फुटबॉल खेलना शुरू कर दिया था। उसी फुटबॉल क्लब में शुरुआत से फुटबॉल खेलते हुए मेस्सी का खेल दिन प्रतिदिन निखरता जा रहा था। उनके बेहतरीन खेल को देखते हुए, लिओनल मेस्सी को वही रोसारिया में ही स्थित एक फुटबॉल क्लब न्युवेल ओल्ड बॉयज फुटबॉल क्लब में खेलने के लिए चुन लिया गया था।

लिओनल मेस्सी की प्रतिभा तो भविष्य में सभी देखने ही वाले थे, उन्होंने रोसारिया में ही रहते हुए न्युवेल ओल्ड बॉयज फुटबॉल कलबा की ओर से बहुत सारे मैच भी खेले। रोसरिया में न्युवेल ओल्ड बॉयज क्लब की ओर से खेलते हुए लिओनल मेस्सी के खेल में बहुत अच्छा बदलवा आने लगा था। उनका खेल प्रतिदिन बेहतर से बेहतर हो रहा था। मेस्सी की उम्र तब केवल 9 वर्ष की ही थी। आप मेस्सी के बेहतरीन खेल का अंदाजा इसी बात से लगा सकते है, की यदि उनके पास एक बार फुटबॉल आ जाती थी। तब कोई भी मेस्सी से कुछ समय के लिए फुटबॉल को छीन ही नही सकता था। वो दिन प्रतिदन उस कलम में खेलते हुआ फुटबॉल में बेहतर होते जा रहे थे। चलिए अब हम आगे जानते है की किस तरह से लिओनल मेस्सी उनके जीवन के सबसे मुश्किल समय से गुजरे लेकिन वो उस कठिन समय में भी अपने फुटबॉल के पैशन को नही भूले थे।

Lionel Messi का संघर्ष भरा जीवन:

चूँकि लिओनल मेस्सी ने अपने रहवासी स्थान रोसरिया में स्थित फुटबॉल क्लब से कम ही उम्र से जुड़कर फुटबॉल खेलना शुरू कर दिया था। उनके जीवन में सबकुछ बहुत अच्छा चल रहा था। लेकिन कहते है ना की जब तक किसी भी व्यक्ति के जीवन में संघर्ष तथा मुश्किलें नही आती है। तब तक हमें उसकी असली काबिलियत का पता ही नही चलता है, मेस्सी का जीवन भी शुरुआत से बहुत अच्छा चल रहा था और वह प्रत्येक दिन के साथ फुटबॉल के खेल में बेहतर होते जा रहे थे। मेस्सी फुटबॉल के लिए अपने जूनून के दम पर एक बेहतरीन खिलाडी बनते जा रहे थे।  उनके परिवार को भी फुटबॉल के खेल में मेस्सी का सुनहरा करियर साफ़ दिखाई दे रहा था।

लेकिन फिर लिओनल मेस्सी के जीवन का सबसे मुश्किल दौर उनके जीवन में आया था। जब मेस्सी मात्र 11 वर्ष की उम्र के थे, तब उनके शरीर में Hormone Deficiency नाम की एक बहुत गंभीर बीमारी हो गयी थी। इस बिमारी के चलते मेस्सी के शरीर में हारमोंस की बहुत अधिक कमी होने लग गयी थी। इस बिमारी के चलते किसी भी व्यक्ति के शरीर में आवश्यक हारमोंस की बहुत कमी होने लगती है।

जिससे की शरीर को आवश्यक पोषण नही मिल पाता है, जिसकी वजह से शरीर का विकास भी रुक जाता है। चूँकि मेस्सी को हारमोंस की यह एक गंभीर बीमारी थी इसका इलाज सामान्य बीमारियों से कई गुना महंगा था। इस बिमारी के चलते मेस्सी को रोजाना एक इंजेक्शन अपनी जांघो पर लगवाना होता था। वो 7 दिन तक लगातार एक जांघ पर इंजेक्शन लगवाते थे और अगले 7 दिन तक दूसरी जांघ पर इंजेक्शन लगवाते थे। आप कल्पना कर सकते है की किसी भी 11 साल के बच्चे के लिए कितना कठिन काम होता होगा।

लिओनल मेस्सी भी अपने जीवन के सबसे मुश्किल समय से गुजर रहे थे। उन्हें इस बिमारी के इलाज के चलते भयंकर दर्द का सामना करना पड़ता था। चूँकि मेस्सी के परिवार की आर्थिक हालात उस समय कुछ ख़ास अच्छी नही थी। लेकिन कुछ वर्षो तक मेस्सी के पिता ने अपना सबकुछ लगाकर मेस्सी का इलाज बहुत अच्छे से कराया था।  लेकिन उसके बाद उनके घर की आर्थिक स्थिति और भी ज्यादा खराब हो गयी थी। क्योकि मेस्सी की हारमोंस की कमी की बिमारी के इलाज के लिए लगभग 900 से लेकर 1500 $ प्रतिमाह का खर्च था। चूँकि मेस्सी के पिता मजदूरी का काम करते थे तथा एक मध्यमवर्गीय परिवार जिसकी आर्थिक हालत अच्छी नही हो उसके लिए यह बहुत बड़ी रकम होती है। चलिए आगे जानते है की किस तरह से मेस्सी के जीवन में अगला पडाव आया जब उनकी फुटबॉल के प्रति सच्ची मेहनत रंग लाने लगी और उन्हें आगे खेलने का मौका मिला।

Lionel Messi का निजी जीवन:

यदि हम बात करे लेओनेल मेस्सी के निजी जीवन की तो का नाम अपने रहवासी स्थान रोसारियो की माकारीना लीमोस के साथ जोड़ा गया था। लेकिन इस बात को उनके द्वारा ख़ारिज कर दिया गया था। उसके बाद मेस्सी का नाम अर्जेंटीना प्रसिद्द मॉडल लुसियाना सालाजार के साथ भी जोड़ा गया था। लेकिन यह बात ने लोगो के लिए सिर्फ अफवाह मात्र ही थी। इसके बाद लिओनेल मेस्सी ने साल 2017 में Antonela Roccuzzo के साथ शादी कर ली थी।

Lionel Messi को पहला मौका मिलना:

फुटबॉल के प्रति गजब के जूनून के कारण ही मेस्सी ने अपनी बीमारी के चलते भी फुटबॉल खेलना कभी नही छोड़ा। बीमारी से ग्रसित होने इ बावजूद भी मेस्सी पूरी लग्न और मेहनत से पप्रेक्टिस किया करते थे। लियोनल मेस्सी के जीवन में वह डायलाग पूरी तरह से फिट बैठता है जो यह है की ” अगर किसी चीज़ को पूरी शिद्दत से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने में जुट जाती है” कुछ ऐसा ही मेस्सी के साथ भी हुआ था। बचपन से ही फुटबॉल के लिए मेस्सी का प्यार किसी से छुपा नही था, तब मेस्सी के खेल को देखते हुए किसी ने बार्सिलोना यूथ एकेडमी निदेशक कोस डिस्केट को मेस्सी के बेहतरीन खेल के बारे में बताया था।

उसके बाद उन्होंने मेस्सी के फुटबॉल मैच को देखा और मेस्सी को खेलता देख वह हतप्रभ रह गये थे। वह मेस्सी के खेल तथा खेलने के तरीके से बहुत प्रभावित हुए थे। उन्होंने मेस्सी के परिवार से बात की जिसके बाद उन्हें मेस्सी की बीमारी तथा उनके परिवार के आर्थिक हालात के बारे में बता चला। उन्होंने तुरंत मेस्सी के परिवार के सामने एक अग्रीमेंट रखा, जिसके अनुसार लिओनल मेस्सी की उस बीमारी के इलाज का पूरा खर्चा उनकी टीम ही उठाएगी।

लेकिन मेस्सी के परिवार को स्पेन आकर मेस्सी को बार्सिलोना की ओर से फुटबॉल खेलन होगा। यह अग्रीमेंट मेस्सी तथा उनके परिवार के लिए किसी सुनहरे मौके से कम नही था।  इसलिए उन्होंने तुरंत ही हां कर दी थी, इसके बाद लिओनल मेस्सी अपने परिवार के साथ स्पेन रहने के लिए आ गये। यहा आकर मेस्सी ने पूरी लगन से बार्सिलोना यूथ एकेडमी तथा ला मासिया के युवा फुटबॉल क्लबो में खेलना शुरू कर दिया था। यहा खेलते हुआ मेस्सी ने अपने जादुई खेल से सभी को बहुत अधिक प्रभावित किया था।

Lionel Messi का क्लब फुटबॉल करियर:

चूँकि मेस्सी ने बार्सिलोना आकर अपने खेल में बहुत मेहनत की थी और सभी को अपने खेल से प्रभावित भी किया था। इसलिए उनके जल्द ही आगे खेलने के लिए मौका मिल गया। मेस्सी ने 16 नवम्बर, 2003 को मात्र 16 वर्ष की उम्र में एक फ्रेंडली मैच में पोर्टो के खिलाफ खेलते हुए अपने खेल जीवन की बेहतरीन शुरुआत की थी। लिओनल मेस्सी ने अपने पहले ही मैच में अपने खेल से सभी को प्रभावित किया था। इसलिए मेस्सी को अगले 1 साल से भी कम समय में मात्र 17 वर्ष की आयु मे एस्पैनियाल के खिलाफ अपनी लीग की शुरुआत करते का मौका मिला और अब मेस्सी बार्सिलोना के लिए खेलने वाले तथा ला लीग में खेलने वाले सबसे कम उम्र के खिलाडी बन गये थे।

फ्रेंक रिजकार्ड द्वारा दिए गये इस मौके को लिओनेल मेस्सी ने बहुत अच्छे से भुनाया और मेस्सी ने इस मैच में भी अपना बेहतरीन प्रदर्शन किया था। इसके बाद लिओनेल मेस्सी को 1 मई, 2005 अल्बासेटे के खिलाफ अपना अगला मैच खेलने का मौका मिला था। इस मैच में मेस्सी ने अपने क्लब के लिए शानदार खेल दिखाते हुए अपना पहला सीनियर गोल किया था। उस वक्त मेस्सी की उम्र महज 17 साल और 10 महीने ही थी। जब उन्होंने यह गोल किया तब वह बार्सिलोना के लिए ला लीगा में गोल करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाडी बन गये थे।  इसके बाद इस रिकार्ड को 2007 में बोयान क्रिच ने तोडा था।

उस मैच में अपना बेहतरीन प्रदर्शन दिखाते हुए गोल करने के बाद लिओनेल मेस्सी ने फ्रेंक रिजकार्ड को धन्यवाद देते हुए कहा की ” में कभी भी नही भूल सकता की रिजकार्ड ने मुहे खेल में प्रवेश कराया, वही थे जिन्होंने मुझपर विश्वास किया और मुझे तब मौका दिया जब में केवल सोलह सत्रह साल का युवक ही था। मेस्सी ने 2005 -06 के सीजन में 16 सितम्बर को उन्हें टीम के सदस्य के चुना गया और सेलेरी देना शुरू कर दिया गया। मेस्सी ने 26 सितम्बर को ही स्पैनिश नागरिकता प्राप्त कर ली थी।

  • मेस्सी ने स्पैनिश फर्स्ट डिविजन में खेलते हुए अपना पहला मैच इतालवी उडिनीज क्लब के खिलाफ 27 सितम्बर को खेला था।
  • मेस्सी ने बेहतरीन प्रदर्शन करते सत्रह लीग में छ गोल स्कोर किये थे तथा छ गोल में से एक चैंपियंस लीग का गोल स्कोर भी किया था।
  • मेस्सी ने 2006-07 के सीजन में 26 मैचो में 14 गोल स्कोर करते हुए खुद को फर्स्ट टीम के नियमित खिलाडी के रूप में स्थापित किया था।
  • लिओनेल मेस्सी इवान जमोरानो के बाद रियल मेड्रिड के 1994-95 के सीजन में लगातार तीन गोल करने वाले पहले खिलाडी बने थे।
  • मेस्सी ने 18 अप्रैल, 2007 को गेतेफ़ के खिलाफ खेलते हुए कोपा डेल रे के सेमी-फाइनल में दो गोल किये थे।
  • मेस्सी ने 2007 में शिविर नाऊ में सेविया के खिलाफ खेलते हुए बार्सा को 2-0 से मैच जिताया था।
  • लिओनेल मेस्सी को फारवर्ड की श्रेणी में FIFPro विश्व एकादश खिलाडी पुरस्कार के लिए नामांकित भी किया गया था।
  • लिओनेल मेस्सी ने 2007-08 के सीजन में 27 फरवरी को वैलेशिया के खिलाफ खेलते हुए बार्सा के लिए 100वा मैच खेला था।
  • मेस्सी ने 2008-09 के सीजन में शखतार के खिलाफ खेलते हुए चैंपियंस लीग में अंतिम सात मिनटों में बेहतरीन खेलते हुए दो गोल किये थे।
  • लिओनेल मेस्सी को 2008 के FIFA वर्ष के विश्व खिलाडी पुरस्कारों में 678 अंको के साथ द्वितीय स्थान पर नामांकित किया गया था।

Lionel Messi का अन्तराष्ट्रीय करियर:

लिओनेल मेस्सी ने अपने अन्तराष्ट्रीय करियर में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए सभी को अपने खेल का दीवाना बना लिया है। मेस्सी को उनके प्रदर्शन के लिए निम्न अवार्ड्स प्रदान किये गये है। हालाँकि हम मेस्स्सी की काबिलियत को अवार्ड्स के तराजू पर तौल ही नही सकते है।

मेस्सी ने जून 2004 में पारागुए के खिलाफ अंडर-20 के फ्रेंडली में मैच में अर्जेंटीना के लिए अपने करियर की शुरुआत की थी।
लिओनेल मेस्सी को 2005 में FIFA वर्ल्ड यूथ चैंपियनशिप में गोल्डन बॉल और गोल्डन शू के ख़िताब से नवाजा गया था।
लिओनेल मेस्सी ने 17 अगस्त साल 2005 को 18 वर्ष की उम्र हंगरी के खिलाफ अपना पहला अन्तराष्ट्रीय मैच खेला था।

Lionel Messi के अवार्ड्स तथा सम्मान:

  • FIFA U-20 विश्व कप – 2005
  • ओलम्पिक स्वर्ण पदक – 2008
  • स्पैनिश कप 2008-09
  • FIFA U-20 विश्व कप के शीर्ष स्कोरर – 2005
  • FIFA U-20 विश्व कप टूर्नामेंट के खिलाडी – 2005
  • कोपा अमेरिका टूर्नामेंट के युवा खिलाडी – 2007
  • U-21 वर्ष के यूरोपीय फुटबॉल खिलाडी -2007
  • FIFPro वर्ष का विशेष युवा खिलाडी 2005,06,07,08,
  • UEFA क्लब वर्ष का बेस्ट फुटबालर 2008-09
  • LEP सर्वश्रेष्ठ खिलाडी -2008-09
  • LEP सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकर -2008-09
  • FIFA क्लब विश्व कप गोल्डन बॉल – 2009

लेओनेल मेस्सी अपने खेल से करोडो लोगो के दिल में जगह बना चुके और लगातार बनाते रहेंगे। आज प्रत्येक फुटबॉल प्रेमी और खिलाडी के लिए वे एक बेहतरीन आदर्श स्वरुप माने जाते है।

निष्कर्ष:

जिस प्रकार से लिओनेल मेस्सी ने अपने जीवन में शुरुआत से संघर्ष करते हुए अपनी कड़ी मेहनत और खेल के प्रति इमानदारी के चलते आज सफलता प्राप्त की है। उसके लिए आज वे प्रत्येक युवा के लिए आदर्श है। हमें उनके जीवन से सीखना चाहिए की मुश्किल समय में खुद पर पूरा भरोसा रखे।

हमें आशा है की आपको Lionel Messi Biography In Hindi तथा लिओनेल मेस्सी का जीवन परिचय पर यह आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा। उम्मीद करते है की आपने भी लिओनेल मेस्सी के जीवन से कुछ न कुछ अवश्य ही सीखा होगा और आपको लिओनेल मेस्सी से अपने काम को पूरी लगन से करने की प्रेरणा अवश्य ही मिली होगी।

 

हमारे इन बेस्ट आर्टिकल्स को पढ़ना बिलकुल न भूले:-

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement