Connect with us

Festivals & Events

Hanuman Jayanti Wishes & Quotes in Hindi: आओ जानें हनुमान जयंती बारे में..!

Hanuman Jayanti Wishes Quotes in Hindi

हिंदू धर्म में हनुमान जयंती का पर्व काफी धूमधाम से मनाया जाता है और लोगों के लिए हनुमान जयंती का पर्व काफी महत्व रखता है। हनुमान जयंती के पर्व के दिन पूरे देश भर में हनुमान जी का जन्म दिवस मनाया जाता है।

भारत देश में इस त्यौहार को धूमधाम से और बहुत आस्था के साथ मनाया जाता है। हनुमान जयंती की तिथि के दिन हनुमान जयंती का जन्म दिवस मनाया जाता है। हनुमान जयंती एक विजय अभिनंदन समारोह के तौर पर भी मनाई जाती है।

आप सभी को हनुमान जयंती की शुभकामनाएं!
बजरंगबली की कृपा आप सब पर हमेशा बनी रहे

हनुमान जयंती कब है? Hanuman Jayanti Kab Ki Hai : 

When is Hanuman Jayanti 2021? Tuesday, 27 April 2021

वर्ष दिन
2021 27 अप्रैल 2021 दिन मंगलवार
2022 16 अप्रैल 2022 दिन शनिवार
2023 06 अप्रैल 2023 दिन गुरुवार
2024 23 अप्रैल 2024 दिन मंगलवार
2025 12 अप्रैल 2025 दिन शनिवार

भगवान हनुमान जी हिंदू धर्म के अनुयायियों के द्वारा माने जाने वाले एक लोकप्रिय भगवान है। हनुमान जयंती को लोग बड़े उत्सव से मनाते हैं और सड़कों पर बड़ी-बड़ी झांकियां निकालते हैं। आज हम इस आर्टिकल में हनुमान जयंती से संबंधित संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाएंगे,तो इस आर्टिकल को आप अंत तक अवश्य पढ़ें।

हनुमान जयंती क्या है?

हनुमान जयंती जो कि हिंदू धर्म के लिए एक मुख्य त्योहार है। इस दिन भारत देश के सभी हिंदुओं द्वारा हनुमान जी का जन्मदिन पूरे जश्न के साथ और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। हनुमान जयंती हिंदू धर्म का एक प्रसिद्ध पर्व है।

इस पर्व को भारत देश के अलावा कई अन्य देशों में भी मनाया जाता है। क्योंकि हनुमानजी के भक्त दुनिया में बहुत ज्यादा है। 

हनुमान जी को लोग भगवान के रूप में मानते हैं। हिंदू धर्म में हनुमान जी के भक्तों की संख्या बहुत अधिक है। लेकिन इसके अलावा भी अन्य धर्म के लोग भी हनुमान जी के जन्मदिन को बड़े धूमधाम से मनाते हैं और हनुमान जयंती के पर्व को हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं।

भगवान श्री हनुमान जी के जन्मदिन को हनुमान जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस दिन विशेष पूजन कार्यक्रम भी रखा जाता है।

हनुमान जयंती क्यों मनाया जाता है?

हनुमान जयंती मनाने का एक मुख्य कारण इतिहास में लिखा गया है। पुराणों के अनुसार लिखा गया है,कि भगवान श्री हनुमान जी जो कि भगवान शिव के 11 वे अवतार हैं। इसलिए साल में दो बार हनुमान जयंती को बड़े धूमधाम से पूरे देश में मनाया जाता है।

साल में हनुमान जयंती को दो और क्यों मनाया जाता है। इसके लिए भी दोनों हनुमान जयंती के पीछे अलग-अलग मान्यताएं और अलग-अलग कारण छुपे हुए हैं।

  1. साल की पहली हनुमान जयंती को हनुमान जी के जन्मदिन के तौर पर मनाया जाता है,कि इस दिन भगवान श्री हनुमान जी का जन्म माता अंजनी की कोख से हुआ था। हनुमान जी के अलग-अलग नाम विश्व भर में विख्यात है। जैसे:-अंजनी पुत्र, महाबली, बजरंगबली इत्यादि।

इसके अलावा माना जाता है, कि जिस दिन भगवान हनुमान जी का जन्म हुआ था। उस दिन हनुमान जी को बहुत जोर से भूख लगी थी और सूर्यदेव को उन्होंने फल समझकर खाने की इच्छा जताई।

सूर्य देव को फल समझकर खाने के लिए भगवान हनुमान जी सूर्य देव की तरफ बढ़े और उसी दिन राहु भी सूर्य देव को अपना ग्रास बनाने के लिए आ रहे थे। इसलिए सूर्यदेव ने हनुमान जी को राहु समझ लिया था।

  1. दूसरी हनुमान जयंती जो कि दीपावली के दिन मनाई जाती हैं। इसके पीछे कारण यह है,माता सीता को कंस अपहरण करके श्री लंका ले गया था। उसके पश्चात हनुमान जी ने माता सीता को वापस अयोध्या लाने में जो कार्य किए वह अद्भुत थे। 

उसके पश्चात माता सीता ने हनुमान जी को भगवान श्री राम के प्रति समर्पण और भक्ति को देखकर उन्हें अमरता का वरदान दिया था। माता सीता ने यह वरदान दीपावली के दिन दिया था। इसलिए दीपावली का दिन हनुमान जयंती के रूप में भी मनाया जाता है।

हनुमान जयंती कब मनाई जाती है?

Hanuman Jayanti हनुमान जयंती को साल में दो बार बनाया जाता है। मतलब यह है, कि हिंदी कैलेंडर के अनुसार दो तिथियों के दिन हनुमान जयंती को मनाया जाता है। यदि इंग्लिश कैलेंडर की बात करें तो हनुमान जयंती अलग-अलग दिन आती रहती है। लेकिन हनुमान जयंती के दोनों पर हिंदी कैलेंडर के आधार पर ही मनाया जाते है।

पहली हनुमान जयंती हिंदी कैलेंडर के अनुसार चैत्र मास की पूर्णिमा की तिथि के दिन मनाई जाती है। दूसरी हनुमान जयंती कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन मनाई जाती है।

 चैत्र मास की पूर्णिमा के दिन मनाई जाने वाली हनुमान जयंती काफी लोकप्रिय है। क्योंकि इस दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था।

हनुमान जयंती का महत्व:

हिंदू धर्म के लोगों के लिए हनुमान जयंती का पर्व काफी महत्व रखने वाला पर्व माना जाता है। हनुमान जी का नाम हिंदू धर्म के लोग भगवान के रूप में लेते हैं और हनुमान जयंती को बड़े धूमधाम से मनाते हैं।

 बजरंगबली जोकि भगवान श्रीराम के परम भक्त और उनकी भक्ति देखकर ही सीता माता ने उन्हें अमरता का वरदान दिया था। 

इसके अलावा हनुमान जी को भगवान शिव का 11 वा अवतार भी माना जाता है। हिंदू धर्म के लोगों का मानना है। कि भगवान हनुमान जी का नाम लेने से ही लोगों के कष्ट दूर हो जाते हैं।

हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे इसीलिए हनुमान जी की मूर्ति को महिलाएं हाथ नहीं लगाती है। महिलाएं हनुमान जी की मूर्ति को स्पर्श किए बिना हनुमान जी का पूजा पाठ कर सकती है।

 वैसे तो लोग रोजाना हनुमान जी का पाठ करते हैं। लेकिन हर सप्ताह के मंगलवार को हनुमान जी का दिन माना जाता है और इस दिन मंदिरों में हनुमान जी की विशेष पूजा की जाती है। 

हनुमान जयंती कैसे मनाई जाती है?

सभी लोग अलग-अलग तरीकों से Hanuman Jayanti हनुमान जयंती को मनाते हैं। लेकिन ज्यादातर लोग हनुमान जयंती के पर्व के दिन सुबह जल्दी उठकर व्रत रखते हैं। इसके पश्चात लोग जल्दी उठकर स्नान करके हनुमान जी की मूर्ति को पवित्र करते और पांच से 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। 

उसके पश्चात मंदिरों व घरों में विशेष पूजा का आयोजन किया जाता है। इस दिन घर व मंदिरों में हनुमान जी की भजन कीर्तन का कार्यक्रम भी रखा जाता है। हनुमान जयंती के दिन सुंदरकांड का पाठ भी पढ़ा जाता है।

हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी थे इसलिए हनुमान जयंती के अवसर के दिन हनुमान जी की मूर्ति को जनेऊ धारण कराया जाता है  हनुमान जी की जयंती के दिन लोग हनुमान जी के पूरे शरीर पर सिंदूर लगा देते हैं।

 जिसे हमारी भाषा में चोला कहा जाता है। पुरानी कथाओं के अनुसार हनुमान जी की तस्वीर पर सिंदूर इसलिए लगाया जाता है। क्योंकि एक बार भगवान श्रीराम की लंबी उम्र की कामना करते हुए हनुमान जी ने अपने पूरे शरीर पर सिंदूर चढ़ाया था।

Hanuman Jayanti Wishes & Quotes

जिनके मन में है श्रीराम,
जिनके तन में हैं श्री राम।
जग में सबसे हैं वो बलवान,
ऐसे प्यारे मेरे हनुमान।
जय श्रीराम… जय हनुमान
हनुमान जयंती की मंगलमय शुभकामनाएं

करो कृपा मुझ पर हे हनुमान,
जीवन-भर करूं मैं तुम्हे प्रणाम,
जग में सब तेरे ही गुण गाते हैं
हरदम चरणों में तेरे शीश नवाते हैं।
हनुमान जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

सब सुख लहै तुम्हारी सरना
तुम रक्षक काहू को डरना
हनुमान जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

हे बजरंगी !
तेरी पूजा से हर काम होता है,
दर पर तेरे आते ही दूर अज्ञान होता है,
रामजी के चरणों में ध्यान होता है,
आपके दर्शन से बिगड़ा हर काम होता है…
Happy Hanuman Jayanti

मेरे दुश्मन कहते हैं तेरे पास ऐसा क्या है,
जिससे तेरे नाम का ईतना आतंक है ?
मैने कहा भाई मेरा दिल नरम है, दिमाग गरम है
बस बाकी सब, मेरे बजरंगबली का करम है…
Wish you a Happy Hanuman Jayanti

राम का हूँ भक्त मैं, रूद्र का अवतार हूँ
अंजनी का लाल हूँ मैं, दुर्जनों का काल हूँ
साधुजन के साथ हूँ मैं, निर्बलो की आस हूँ
सद्गुणों का मान हूँ मैं, हां मैं हनुमान हूँ

निष्कर्ष:-

Hanuman Jayanti हनुमान जयंती का त्यौहार हिंदू धर्म के लोगों के लिए एक विशेष त्योहार है। इस दिन लोग बड़े हर्षोल्लास के साथ इस त्योहार को मनाते हैं। Hanuman Jayanti Wishes Quotes in Hindi हनुमान जयंती के दिन लोग अलग-अलग कार्यक्रम में भजन-कीर्तन और सुंदरकांड के पाठ इत्यादि का आयोजन करते हैं। 

हनुमान जयंती को साल में दो बार मनाया जाता है। आज हमने इस आर्टिकल में हनुमान जयंती क्या हैं? Hanuman Jayanti हनुमान जयंती को क्यों मनाया जाता है और हनुमान जयंती को कैसे मनाया जाता है? इसके बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचाई है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement