Connect with us

Hindi Quotes

Yogi Adityanath Biography in Hindi: योगी आदित्यनाथ बायोग्राफी इन हिंदी

Yogi Adityanath Biography in Hindi

आज हम एक ऐसे नेता Yogi Adityanath Biography in Hindi, गुरु एंव समाजसेवी के जीवन के बारें में बताने वाले हैं। इनके जीवन के बारें में पढ़कर आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। इनकी जिंदगी के बारें में पढ़कर आप पूरी तरह से मोटिवेट हो जाओगे, आपके अंदर एक नई उर्जा उत्पन्न हो जायेगी। आज हम यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के जीवन के बारें में बताने वाले हैं।

इनके जीवन की कहानी आपके जीवन को एक नई दिशा दे सकती है। आप चाहे किसी भी उम्र के हो, आपको इनकी जिंदगी से कुछ ना कुछ सीखने के लिए जरुर मिलेगा। आइये पढ़ते है योगी आदित्य नाथ जी के जीवन के बारें में:- 

नाम योगी आदित्यनाथ
पूरा नाम श्री अजय सिंह बिष्ट बाद में योगी आदित्यनाथ
जन्म 5 जून 1972
जन्मस्थान पंचुर, पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखण्ड
राष्ट्रीयता भारतीय
धर्म हिन्दू (नाथ सम्प्रदाय)
शिक्षा Hemvati Nandan Bahuguna Garhwal University
पिता स्वर्गीय श्री आनंद सिंह बिष्ट (Forest ranger)
माता श्रीमती सावित्री देवी
पत्नी नहीं है
पेशा राजनीतिज्ञ
राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी
पद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री
कार्यालय ग्रहण 19 मार्च 2017
रहने का स्थान 5, कालिदास मार्ग, लखनऊ, उत्तर प्रदेश, भारत

योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय – Life introduction of Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

योगी आदित्यनाथ का जन्म एक राजपूत परिवार में हुआ, इनके माता-पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट व सावित्री देवी है। योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को पिंचुर गाँव यमकेश्वर तहसील पौढ़ी गडवाल उत्तराखंड में हुआ। योगी आदित्यनाथ का नाम अजय सिंह बिष्ट उनके माता-पिता ने रखा था. योगी जी ने अपनी शुरुआती शिक्षा 1977 को टिहरी गढवाल के गजा स्कूल में पूरी की उसके बाद ऋषिकेश के भारत मंदिर से 1989 में 12वीं पास की उसके बाद उन्होंने 1922 में B.sc हेमवती नंदन बहुगणा गढ़वाल युनिवर्सिटी से की और उसके बाद उन्होंने M.sc किया। 

भाजपा के साथ संबंध – Relations with BJP

शुरुआत में, योगी आदित्यनाथ के भाजपा के साथ संबंध सहज नहीं थे। हालांकि, धीरे-धीरे सब कुछ सामान्य हो गया और कई भाजपा नेताओं द्वारा गोरखपुर का दौरा किया गया। योगी आदित्यनाथ मार्च 2010 में उन भाजपा सांसदों में से एक थे, जिन्होंने संसद में महिला आरक्षण विधेयक पर पार्टी को चुनौती दी थी।

योगी आदित्यनाथ ने सन्यास कब लिया – When did Yogi Adityanath Retire?

योगी आदित्यनाथ पढाई में अच्छे भी थे और उन्होंने कॉलेज में अनेक हिन्दू संगठनो का निर्माण भी किया। इन संगठनो में रहते हुए 1993 में गोरखनाथ आये और यहाँ पर वह महंत अवैधनाथ जी के संपर्क में आये और उन्होंने 1994 में उनसे दीक्षा लेकर सन्यासी बनने का निर्णय लिया। सन्यासी बनने के बाद इनका नाम अजय सिंह बिष्ट से योगी आदित्यनाथ रखा गया।

योगी आदित्यनाथ राजनीति में उस वक्त भी एक्टिव थे और वह समय-समय पर लोगों की मांगो के लिए आन्दोलन इत्यादि किया करते थे। 12 सिंतंबर 2014 में गोरखनाथ मन्दिर के पूर्व महंत अवैधनाथ जी का निधन हुआ और उनकी जगह योगी आदित्यनाथ को महंत बना दिया गया। अवैधनाथ जी भी बीजेपी के सदस्य थे और उनकी पार्टी के प्रत्याशी के रूप में अनेक चुनाव जीते थे।  

योगी जी का राजनैतिक जीवन – Yogi’s political life

Yogi Adityanath Biography in Hindi

योगी आदित्यनाथ जी ने राजनीति में कदम भाजपा प्रत्याशी के रूप में रखा और 1998 में उन्होंने गोरखपुर से चुनाव लड़ा और जीत भी हासिल की, उस समय 12वीं लोकसभा में सबसे युवा सांसद योगी जी थे इनकी उम्र उस वक्त 26 वर्ष थी। इसके बाद लगातर वे चुनाव जीतते रहे और सिंतंबर 2017 तक इसी पद पर रहे। 19 मार्च 2017 को भाजपा मीटिंग कार्यलय में मीटिंग हुई और योगी जी को यूपी का मुख्यमंत्री पद दिया गया। इस पद पर आने के बाद योगी जी ने यूपी में अनेक बड़े और छोटे फैसले किये है। उनका शहरो का नाम बदलने वाला फार्मूला आज भी लोगों में वायरल है। 

योगी आदित्यनाथ का इतिहास: लोकसभा चुनावों में प्रदर्शन

योगी आदित्यनाथ का लोकसभा चुनावों और नीतियों में प्रदर्शन व सहयोग: योगी आदित्यनाथ सबसे पहले सन् 1998 में गोरखपुर से चुनाव भाजपा प्रत्याशी के तौर पर लड़े और तब उन्होंने बहुत ही कम अंतर से जीत दर्ज की। लेकिन उसके बाद हर चुनाव में उनका जीत का अंतर बढ़ता गया और वे 1999, 2004, 2009 तथा 2014 में सांसद चुने गए। उन्होने अप्रैल 2002 में हिन्दू युवा वाहिनी बनायी।

हिन्दू युवा वाहिनी की स्थापना – Establishment of Hindu Yuva Vahini

योगी जी कॉलेज के टाइम से हिन्दुओ को एक करने का काम कर रहे है। उन्होंने राजनीति में आने के बाद 2002 में उन्होंने हिन्दू युवा वाहिनी की स्थापना की। योगी जी का यह संगठन हमेशा सुर्ख़ियों में रहता है। इतना ही नहीं इस समूह पर दंगा फ़ैलाने जैसे आरोप भी लगाये गये हैं। 

योगी आदित्यनाथ जी के विचार – Thoughts of Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography के विचारों की बात की जाए तो इन्होने हर बात राष्ट्रहित में कही है। इनका मानना है की राष्ट्रहित में अगर कोई कार्य किया जाए तो हमेशा उसमे सफलता मिलती है। आइये पढ़ते है योगी आदित्यनाथ के विचार:- 

“मेरी कोई इच्छा नहीं है – एक योगी कभी अपने मन में अपने लिए इच्छा नहीं पालता।”  — Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

“जो लोग कानून को मानते है उन्हें किसी बात का डर नहीं है, डरना उन्हें चाहिए जो कानून को नहीं मानते।” — Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

“समाज के खिलाफ आवाज उठती है तो हमें उसका विरोध अवश्य करना चाहिए।” — Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

“सन्यासी बनने का यह अभिप्राय नहीं है की वह कुछ ना करें, उसका कर्तव्य है की समाज के लिए कुछ करें एंव दुष्टों को उनकी सही जगह दिखाए।”  — Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

“मैं सन्यासी होने के नाते हमेशा सच ही बोलता हूँ, अब लोगों को मेरी बात कैसी लगे उनकी सोच पर डिपेंड करता है।”  — Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

“मैं खुली किताब हूँ, मुझे पढना मुश्किल नहीं है।”  — Yogi Adityanath

Yogi Adityanath Biography in Hindi

“मैंने अपने जीवन में प्यार केवल भारत माता से किया है और मुझे लगता है कि मैंने दुनिया के सभी बच्चों से प्यार किया है।”

 

“जो बातें समाज के खिलाफ हो, उन बातों पर हमें आवाज उठानी चाहिए।”  — Yogi Adityanath

 

“यदि देश का आधार कमजोर होगा, तो भवन भरभरा कर गिर जायेगा। लेकिन यदि नींव मजबूत है, तो भवन हिल नहीं सकता।”

 

“एक सन्यासी का सही कर्तव्य होता है कि वह समाज को अच्छा बनाये और दुष्टों को सजा दे।”  — Yogi Adityanath

 

“टाइगर जैसा साहस जिस इन्सान में होगा, वही इन्सान टाइगर को दूध पिला सकता है।”

 

“कोई भी कार्य छोटा या बड़ा नही होता है, हमारी सोच ही उसे छोटा या बड़ा बनाती है।”  — Yogi Adityanath

 

“थोड़ी सी मेहनत कर आप दूसरों के लिए प्रेरणा बन सकते हैं।”

 

“महिलाएं अपनी क्षमता पर कभी शक न करें. वो ठान लें तो कुछ भी कर सकती हैं।”  — Yogi Adityanath

 

“पूरे देश में गौ हत्या पूरी तरह से ख़त्म होनी चाहिए।”

 

“यदि हमारे एक हाथ में माला है, तो दूसरे हाथ में भाला भी है।”  — Yogi Adityanath

 

“भारत देश का राजनीतिक नेतृत्व कैसा होना चाहिए, ये बात उत्तर प्रदेश तय करता है।”  

 

“हम लोग केवल उन लोगों को रोकना चाहते हैं, जो लोग देश को रोकना चाहते हैं, फिर वह चाहे जिस जाति का हो।”  — Yogi Adityanath

 

Final Words:-

योगी आदित्यनाथ जी के जीवन को पढकर और समझकर लगता है की इंसान को हमेशा पोजिटिव रहना चाहिए. अगर हम किसी कार्य के प्रति सच्चाई बरतते है तो यकीनन एक ना एक दिन हमें उसमे सफलता जरुर मिलेगी। योगी जी ने भी अपना कार्य सत्य के आधार पर किया और आज वह यूपी के मुख्यमंत्री भी है और गोरखनाथ मन्दिर के मुख्य महंत भी।

Yogi Adityanath Biography Hindi आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा हमें जरुर बताएं, एंव योगी जी के विचारों को एक बार जरुर पढ़ें। हो सकता है आपकी नीरस जिंदगी में एक नई उर्जा उत्पन्न हो जाए और आप भी सत्य के मार्ग पर जीत की और बढने लगे।

 

इन्हें भी जरूर पढ़े:-

Advertisement
2 Comments

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement