Connect with us

Festivals & Events

Famous Festivals of India in Hindi: भारत में मनाए जाने वाले प्रमुख त्यौहार

Festivals of India in Hindi

भारत त्योहारों का देश माना जाता है, भारत देश में हर त्योहार को बड़े शान के साथ मनाया जाता है। भारत को त्योहारों का देश भी माना जाता है और यहां पर प्रत्येक त्यौहार को बड़ी उत्सुकता के साथ मनाया जाता है। लोगों में प्रत्येक त्योहार को लेकर काफी उत्सुकता रहती है।

भारत देश में रहने वाले लोग जो त्यौहार के आने से पहले ही उस त्यौहार के बारे में तैयारियाँ शुरू कर देते हैं। भारत में प्रतिवर्ष सैकड़ों की संख्या में त्यौहार आते हैं। मतलब ऐसा कहे, तो हर 5 दिन के अंतर्गत एक त्यौहार भारत में आता है। इसीलिए भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है। भारत देश में त्योहारों को कैसे मनाया जाता है और भारत देश के कौन-कौन से त्योहार प्रमुख है।

इसके बारे में हम आज इस आर्टिकल में बात करने वाले है। भारत देश में मनाए जाने वाले 50 मुख्य त्योहारों की सूची इस आर्टिकल के जरिए आप तक उपलब्ध करवाई जाएगी। देश में जो त्यौहार बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाते हैं। उन त्योहार के बारे में संपूर्ण जानकारी आप तक इस आर्टिकल Festivals of India in Hindi के जरिए पहुंचाई जाएगी।

Top 50 List of All Indian Festivals in Hindi

भारत में मनाए जाने वाले त्यौहारों के नाम:-

SR No  त्यौहार  दिनांक 
1. दीपावली  04 नवम्बर 2021
होली  28 मार्च 2021
3. जन्माष्टमी  30 अगस्त 2021
4. दशहरा  15 अक्टूबर 2021
5. रक्षाबन्धन  22 अगस्त 2021
6. गणेश चतुर्थी  13 सितम्बर 2021
7. ईद  12 या 13 मई 2021
8. क्रिसमस  25 दिसम्बर 2021
9. राम नवमी  21 अप्रैल 2021
10. गुरु नानक जयंती  13 सितम्बर 2021
11. लौहडीं 13 जनवरी 2021
12. पोगलं 14 से 15 जनवरी 2021
13. मकर संक्रांति  14 जनवरी 2021
14. भगोली बहु  14 जनवरी 2021
15. बसन्त पंचमी  29 जनवरी 2021
16. महा शिवरात्रि  11 मार्च 2021
17. नवरात्रि  13 से 21अप्रैल 2021
18. गुडी पडवा  13 अप्रैल 2021
19. ऊगादि  13 अप्रैल 2021


Festivals of India – भारत में मनाये जाने वाले प्रमुख त्यौहार: Hindi Mai Toharo Ke Naam

ऐसे तो भारत में प्रतिवर्ष सैकड़ों की संख्या में त्योहार आते हैं। लेकिन आज हम इस आर्टिकल के जरिए आपको 50 प्रमुख त्योहारों के बारे में बताएँगे। जो भारत में बड़ी उत्सुकता और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाते हैं। भारत देश में मनाए जाने वाले त्योहार का महत्व देश के लोगों के लिए काफी अधिक है। भारत देश में इन 50 त्योहार को बड़े ही शान से मनाया जाता है।

1. दीपावली

दीपावली का त्योहार हिंदुओं के लिए सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है। इस त्यौहार के दिन हिंदू धर्म के लोग लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं और घर में दीपक जला कर इस त्योहार को मनाते हैं। इस त्यौहार को मनाने के पीछे भी एक मुख्य कारण है। इस त्यौहार को इसलिए मनाया जाता है। क्योंकि इसी दिन भगवान श्री राम 14 वर्ष का वन-वास पूरा करके पुनः अयोध्या लौटे थे। तब अयोध्या वासियों ने घी के दीप जला-कर उनका स्वागत किया था। उसी के उपलक्ष में आज भी दीपावली को दीपक जला-कर मनाया जाता है। दीपावली के दिन लक्ष्मी जी की पूजा की जाती है।

दीपावली का त्यौहार हिंदू धर्म के लोगों के लिए सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है। देशभर के सभी लोग इस त्यौहार को बड़ीं उत्सुकता के साथ मनाते हैं। दीपावली के त्यौहार को कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है। दीपावली का त्यौहार हिंदी कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है। इसीलिए इंग्लिश कैलेंडर के अनुसार दीपावली के त्यौहार की तारीख हर बार बदलती रहती है। इस बार 4 नवंबर 2021 को दीपावली का त्यौहार मनाया जाएगा।

2. होली

होली का त्योहार जिसे रंगो के त्योहार के नाम से भी जाना जाता है। यह त्यौहार हिंदू धर्म का एक प्रमुख त्योहार माना जाता है। इस दिन लोग एक दूसरे के साथ रंग लगाकर ख़ुशियाँ बांटते हैं। इस त्यौहार को मनाने के पीछे भी एक मुख्य वजह है। इस त्यौहार को इसलिए मनाया जाता है। क्योंकि इस दिन भगवान श्री राम के प्रमुख भक्त पहलाद जिनको हरिणाकश्यप जलाने की कोशिश की थी। हरिणाकश्यप ने होलिका के गोद में पहलाद को बिठा-कर जलाया था। क्योंकि होलिका को अग्नि में ना जलने का वरदान मिला हुआ था और ऐसे में होलिका ने अपने गोद में पहलाद को लेकर खुद को आग लगा दी। लेकिन देखते ही देखते यह आग होलिका को गिरने लगी और पहलाद उस अग्नि से जिंदा निकल गया। अतः इसी के उपलक्ष में होली का त्यौहार मनाया जाता है।

होली के दूसरे दिन लोग एक दूसरे के साथ रंग लगाकर ख़ुशियाँ बांटते हैं। होली का त्योहार भारत-वर्ष में फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। हिंदी कैलेंडर के अनुसार इस त्यौहार को मनाया जाता है। इसलिए अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस त्यौहार की तिथि हर साल अलग-अलग रहती है। इस साल अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से 28 मार्च 2021 को होली का त्यौहार मनाया जाएगा।

3. जन्माष्टमी 

जन्माष्टमी का त्योहार जिसे भगवान श्री कृष्ण के जन्म के उपलक्ष में मनाया जाता है। जन्माष्टमी का त्योहार पूरे भारत-वर्ष में धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन लोग दही की हांडी फोड़ते हैं।  भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के इस अवसर को बड़े ही उत्साह के साथ पूरे भारत में मनाया जाता है। जन्माष्टमी का त्योहार भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष की अष्टमी के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार साल 2021 में जन्माष्टमी का पर्व 30 अगस्त 2021 को मनाया जाएगा। इस दिन सोमवार है, सोमवार के दिन जन्माष्टमी का पर्व पूरे भारत-वर्ष में मनाया जाएगा।

4. दशहरा

दशहरे का त्यौहार पूरे भारत-वर्ष में बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। यह त्यौहार दीपावली से 20 दिन पहले मनाया जाता है। दशहरे का त्यौहार आसोज मास के शुक्ल पक्ष में दशमी के दिन मनाया जाता है। दशहरे के त्यौहार को विजयदशमी के रूप में भी जाना जाता है। दशहरे के त्योहार को मनाने के पीछे भी एक मुख्य कारण छुपा हुआ है। इस त्यौहार को देश में इसलिए मनाया जाता है।

क्योंकि इस दिन भगवान श्रीराम ने और रावण जैसे पापी का नाश करके विजय प्राप्त की थी। इसीलिए ही इस त्यौहार को विजयदशमी के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन लोग रावण के पुतले जला-कर इस त्योहार को मनाते हैं। यह त्योहार पूरे भारत-वर्ष में काफी फेमस त्योहार माना जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार साल 2021 में दशहरे का त्यौहार 15 अक्टूबर 2021 को मनाया जाएगा।

5. रक्षा बंधन

रक्षा-बंधन का त्यौहार जिसे भाई बहन के त्योहार के रूप में भी जाना जाता है। यह त्यौहार भाई-बहन के बीच पवित्र रिश्ते का त्योहार है। इस दिन बहन अपने भाई को राखी बाँधकर अपनी सुरक्षा का वचन मांगती है। यह त्यौहार भाई-बहन के बीच ख़ुशियाँ लाने वाला त्योहार माना जाता है। रक्षा-बंधन के त्यौहार को भारत-वर्ष में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। रक्षा-बंधन के त्यौहार को हिंदी कैलेंडर के अनुसार श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है।

अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक इस वर्ष रक्षा-बंधन का त्यौहार 22 अगस्त 2021 को पूरे देश भर में धूमधाम से मनाया जाएगा। रक्षा-बंधन के इस पर्व पर पूरे भारत-वर्ष में खुशी की लहर दौड़ पड़ती हैं।

6. गणेश चतुर्थी

गणेश चतुर्थी का त्योहार हिंदू धर्म के लिए बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाने वाला त्यौहार है। गणेश चतुर्थी का त्योहार भगवान श्री गणेश के जन्म के तौर पर मनाया जाता है। यह त्योहार 10 दिन तक लगातार चलता है। भगवान गणेश जी के जन्म से लेकर गणेश विसर्जन तक यह त्यौहार चलता है। 

इन दिनों में लोग अपने घर में गणेश जी की मूर्ति स्थापित करते हैं और 10 दिन तक गणेश जी की पूजा करते हैं। गणेश विसर्जन के दिन नज़दीकी तालाब में गणेश जी की मूर्ति का विसर्जन करते हैं  गणेश चतुर्थी का त्योहार हिंदू धर्म के लोगों के लिए काफी लोकप्रिय त्यौहार है।

भगवान गणेश जी को शंकर भगवान और माता पार्वती की संतान माना जाता है। गणेश जी के 108 नामों से जाना जाता है। गणेश चतुर्थी का त्योहार इस साल 13 सितंबर 2021 को मनाया जाएगा। हिंदी कैलेंडर के अनुसार देखा जाए, तो गणेश चतुर्थी का त्योहार भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन मनाया जाता है।

7. ईद

मुस्लिम समुदाय के लोगों के लिए ईद का त्योहार काफी हर्ष उल्लास से मनाया जाने वाला त्यौहार माना जाता है। ईद के त्यौहार को मुस्लिम समाज के सभी लोग बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं। हालांकि आज के समय में कई हिंदू लोग भी ईद के त्योहार को मनाते हैं। ईद का त्यौहार क्यों मनाया जाता है?इसके पीछे भी एक मुख्य कारण छुपा हुआ है। इतिहास के ऐसा माना जाता है,कि पैगंबर हजरत मोहम्मद ने बद्र की लड़ाई में इस दिन जीत हासिल की थी। और इसी के उपलक्ष में सभी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मिठाई बांटकर मुंह मीठा किया था।

 उसके पश्चात से ईद का त्योहार मनाया जाता है। ईद का त्योहार पहली बार 924 ईस्वी में मनाया गया था। उसके पश्चात से हर साल चाँद दिखने के दूसरे दिन ईद के त्यौहार को मनाया जाता है और ईद के त्यौहार वाले दिन मुस्लिम समुदाय के सभी लोग एक दूसरे को शुक्रिया अदा करते हैं। और एक दूसरे के साथ प्यार बांटते हैं। इस साल ईद का त्यौहार 12 मई या 13 मई को मनाया जाने वाला है।

8. क्रिस्मस

क्रिश्चियन समुदाय के लोगों के लिए क्रिस्मस का त्योहार काफी र्षोल्लास से मनाया जाने वाला त्यौहार है। क्रिश्चियन समुदाय के अलावा हिंदू समुदाय के लोग भी इस त्योहार को बड़े धूमधाम से मनाते हैं। इस दिन लोग क्रिस्मस ट्री गमले बनाते हैं और खुद को लाल कपड़े व वाइट कॉपी के साथ सजाते हैं।

क्रिस्मस का त्योहार भारत के साउथ में काफी धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। क्रिस्मस का त्योहार प्रतिवर्ष अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार ही मनाया जाता है। इस साल यह त्योहार 25 दिसंबर 2021 को मनाया जाएगा।

9. रामनवमी

रामनवमी का त्यौहार भी भारतवर्ष में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। रामनवमी का त्योहार राजा दशरथ के पुत्र भगवान राम की स्मृति को समर्पित किया गया है। भगवान श्री राम को मर्यादा पुरुषोत्तम के नाम से भी जाना जाता है। भगवान श्रीराम का व्यवहार हमेशा हर व्यक्ति के प्रति सदैव उचित रहा था। यह त्योहार चेत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी को मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार बात की जाए, तो इस त्योहार को इस साल 21 अप्रैल 2021 को मनाया जाएगा। भगवान श्रीराम का यह त्यौहार बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

10. गुरु नानक जयंती

गुरु नानक जयंती का त्यौहार सिख धर्म के लोगों के लिए काफी लोकप्रिय त्यौहार है। यह त्यौहार सिख धर्म के लोगों के लिए एक मुख्य त्योहार माना जाता है। इस दिन सिख धर्म के लोगों में एक खुशी की नई उमंग दौड़ पड़ती है। सिख धर्म में यह त्यौहार गुरु नानक जी के जन्म के पश्चात प्रतिवर्ष मनाया जाता है।

सिख समाज में गुरु नानक जी को भगवान के रूप में पूजा जाता है। गुरु नानक जयंती का त्योहार हिंदी कैलेंडर के अनुसार कार्तिक मास की पूर्णिमा को गुरु नानक जयंती का त्यौहार मनाया जाता है। मतलब ऐसे कह सकते हैं, कि दीपावली के 15 दिन बाद कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही गुरु नानक जयंती का चौहान सिख धर्म के लोगों द्वारा मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार गुरु नानक जयंती का त्योहार 19 नवंबर 2021 को मनाया जाएगा।

11. लोहड़ी

लोहड़ी का त्योहार पंजाब में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। पंजाबी लोगों का यह त्यौहार काफी लोकप्रिय त्यौहार माना जाता है। यह त्योहार पौष मास की अंतिम रात्रि के दिन मनाया जाता है। इस त्यौहार को मकर सक्रांति के एक दिन पहले मनाया जाता है। इस दिन पंजाबी लोग किसी भी घाट पर बैठकर मूंगफली, रेवड़ी और तिल से बनी चीजों को खाया करते हैं।

पंजाब में इस त्यौहार को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस त्यौहार को सिंधु घाटी सभ्यता के पश्चात मनाना शुरू किया है और आज भी इस त्योहार का प्रचलन पंजाब में बहुत अधिक है। लोहड़ी का त्यौहार 13 जनवरी को प्रतिवर्ष बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। पंजाब के अलावा अन्य राज्यों में भी यह त्योहार मनाया जाता है। लेकिन पंजाब में इस त्योहार का प्रचलन बहुत अधिक है।

12. पोंगल

पोंगल का त्योहार तमिलनाडु में रहने वाले लोगों का एक प्रसिद्ध त्योहार है। इस दिन लोग बड़े धूमधाम से इस त्योहार को मनाते हैं। गूगल का त्यौहार 14 जनवरी और 15 जनवरी को देश भर में मनाया जाता है। 14 जनवरी के दिन मकर संक्रांति का त्योहार भी मनाया जाता है। तमिलनाडु में पोंगल के त्यौहार का प्रचलन कहीं हद तक काफी अधिक है। इस त्यौहार को भारत के अलावा अन्य राज्य जैसे:-अमेरिका, कनाडा, इंग्लैंड इत्यादि में भी मनाया जाता है। लेकिन भारत में तमिलनाडु में यह त्यौहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। 

तमिलनाडु में इस दिन फसल की कटाई के उत्सव में इस त्यौहार को मनाया जाता है। इस दिन लोग वर्षा,पशु और धूप की कामना कर के मनाते हैं। तमिलनाडु में माता की पूजा के पश्चात बैलों को मनुष्य के शरीर के ऊपर से दौडायां जाता है और लोग इन बेल के नीचे मन्नत मांगने के लिए रास्ते में लेट जाते हैं। सैकड़ों की संख्या में बैल इन लोगों के ऊपर से चलते हैं। शरीर के ऊपर से बैलों के चलने का यह रहस्य काफी अद्भुत है।

13. मकर सक्रांति

मकर संक्रांति का त्योहार 14 जनवरी के दिन मनाया जाता है। मकर संक्रांति का त्योहार पूरे भारतवर्ष में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। यह हिंदुओं का एक मुख्य पर्व माना जाता है। इस दिन लोग तिल से बनी हुई चीजों का प्रयोग करते हैं। मकर सक्रांति के दिन लोग तिल की मिठाइयां बनाते हैं और एक दूसरे के साथ बांटते हैं।

मकर संक्रांति के त्योहार के दिन लोग एक दूसरे के साथ प्यार बांटते हैं। मकर संक्रांति के दिन सूर्य भगवान मकर राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करते हैं और इसी के उपलक्ष में इस त्यौहार को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। मकर सक्रांति के अलावा अन्य राशियों की ओर भी कई सक्रांति देश में मनाई जाती है।

14. भगोली बहू

भगोली बहू यह  त्योहार जिसके बारे में हर कोई व्यक्ति नहीं जानता है। क्योंकि यह त्योहार भारत के पूर्वी इलाके में मनाया जाने वाला एक लोकप्रिय त्यौहार है। बाकी अन्य राज्यों में इस त्योहार का प्रचलन बहुत कम है। कई हद तक लोगों को भगोली बहु त्योहार के बारे में बिल्कुल जानकारी भी नहीं होगी। यह त्योहार माह मास में फसल की कटाई के उत्सव में मनाया जाता है। इस त्यौहार को 14 जनवरी या 15 जनवरी के दिन प्रतिवर्ष मनाया जाता है। यह त्योहार जिसको पोंगल के साथ ही मनाया जाता है। लेकिन असम राज्य में इस त्यौहार का नाम भगोली बहू है।

15. बसंत पंचमी

बसंत पंचमी का त्यौहार हिंदू धर्म के लोगों के लिए एक मुख्य त्योहार माना जाता है। खास तौर से इस त्यौहार को School में बहुत ज्यादा मनाया जाता है। इस दिन स्कूल में सरस्वती माता की पूजा की जाती है। बसंत पंचमी के दिन लोग सरस्वती माता से विद्या देने की प्रार्थना करते हैं। बसंत पंचमी के दिन लोग पीला वस्त्र पहनते हैं। माना जाता है,कि इस दिन सभी वृक्षों के पत्ते झड़ जाते हैं और नए पत्ते आते हैं। 

बसंत पंचमी का त्यौहार हिंदी कैलेंडर के अनुसार माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन मनाया जाता है। इस त्यौहार को अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष 29 जनवरी 2021 के दिन मनाया जाएगा। बसंत पंचमी का त्योहार जिसे मुख्य रूप से सरस्वती माता का त्यौहार भी कहा जाता है। यह त्योहार भारत और नेपाल में मुख्य रूप से मनाया जाता है। इस दिन फूल वाले पौधे में फूल खिलते हैं।

16. महाशिवरात्रि

महाशिवरात्रि का त्यौहार ना केवल भारत में बल्कि अन्य कई देशों में भी इस त्यौहार को मनाया जाता है। इस त्यौहार को भगवान शिव और पार्वती के विवाह के उपलक्ष में मनाया जाता है। भगवान शिव के पूरी दुनिया में भक्त है। इसलिए इस त्यौहार को भारत के अलावा अन्य कई है। जैसे :-  बांग्लादेश, नेपाल, पाकिस्तान में धूमधाम से मनाया जाता है।

यह त्योहार माघ मास के कृष्ण पक्ष चतुर्थी के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष महाशिवरात्रि का त्यौहार 11 मार्च 2021 को मनाया जाएगा।

महाशिवरात्रि के त्यौहार के दिन लोग महादेव जी का उपवास रखते हैं और जीवन में खुशहाली को लेकर प्रार्थना करते हैं। इस दिन लोग सिर्फ पानी पीते हैं। पूरे दिन खाना नहीं खाते हैं। इस त्यौहार को भारत के साउथ क्षेत्र में भी धूमधाम से मनाया जाता है।

17. नवरात्रि

नवरात्रि का त्यौहार हिंदू धर्म के लिए एक प्रमुख त्योहार माना जाता है। नवरात्रि का त्योहार साल में दो बार मनाया जाता है। एक त्योहार चैत्र मास में मनाया जाता है और दूसरे नवरात्रि का त्योहार आश्विन मास में मनाया जाता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार चैत्र मास की शुक्ल पक्ष एकम् के दिन मनाया जाता है।

यह त्योहार 9 दिन तक चलता है। नवरात्रि के त्योहार में लोग मां दुर्गा की पूजा करते हैं और 9 दिन तक उपवास करता है। कई लोग नवरात्रि स्थापना और दुर्गा अष्टमी के दिन सिर्फ 2 दिन ही उपवास रखते हैं। कई लोग नवरात्रि के दिन 9 दिन तक सिर्फ पानी पीकर रहते हैं। मतलब अखंड नवरात्रि उपवास रखते हैं।

अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह त्योहार 13 अप्रैल 2021 से 21 अप्रैल 2021 तक मनाया जाएगा। ऐसा माना जाता है, कि नवरात्रि के 9 दिन अलग-अलग नौ देवियों की पूजा की जाती है। जिनका नाम नीचे निम्नलिखित रुप से दिया गया है

  • शैलपुत्री – पहाड़ों की पुत्री होता है।
  • ब्रह्मचारिणी – ब्रह्मचारीणी।
  • चंद्रघंटा – चाँद की तरह चमकने वाली।
  • कूष्माण्डा – पूरा जगत उनके पैर में है।
  • स्कंदमाता –  कार्तिक स्वामी की माता।
  • कात्यायनी – कात्यायन आश्रम में जन्मि।
  • कालरात्रि – काल का नाश करने वली।
  • महागौरी – सफेद रंग वाली मां।
  • सिद्धिदात्री – सर्व सिद्धि देने वाली।

18. गुडी पडवा

गुडी पडवा का त्यौहार महाराष्ट्र में धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। इस त्यौहार को नवरात्रि के पहले दिन मतलब चैत्र मास के शुक्ल पक्ष एकम् के दिन मनाया जाता है।  इस त्यौहार को हिंदू नव वर्ष के रूप में भी मनाया जाता है। गुडी पडवा का त्योहार मराठा समुदाय के लोगों का एक लोकप्रिय त्यौहार है।

आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में एक त्यौहार को उगादि के नाम से मनाया जाता है और महाराष्ट्र में इस त्यौहार को गुड़ी पड़वा के नाम से मनाया जाता है। गुडी पडवा का त्यौहार बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक यह त्यौहार 13 अप्रैल 2021 के दिन महाराष्ट्र में बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा।

19. उगादि

उगादि का त्यौहार कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। उगादि का त्यौहार यहां के लोग हिंदू नव वर्ष के रूप में मनाते हैं। कर्नाटक व आंध्र प्रदेश में रहने वाले सभी लोग इस त्यौहार को एक दूसरे से प्यार बांट कर मनाते हैं।

इस दिन लोग नए कपड़े पहनते हैं और एक दूसरे के घर जाकर उनसे गले मिलते हैं। उगादि का त्योहार हिंदी कैलेंडर के अनुसार नवरात्रि के पहले दिन मतलब चैत्र मास की शुक्ल पक्ष के एकम् के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार बात की जाए, तो यह त्यौहार 13 अप्रैल 2021 को कर्नाटक व आंध्र प्रदेश में बड़े धूमधाम से मनाया जाएगा।

20. गणगौर  15 अप्रैल 2021
21. महावीर जयंती  25 अप्रैल 2021
22. हनुमान जयंती  27 अप्रैल 2021
23. गुड फ्राइडे  02 अप्रैल 2021
24. गुरू पूर्णिमा  24 जुलाई 2021
25  बुध्द जयंती  26 मई 2021
26. बैसाखी  13 – 14 अप्रैल 2021
27. विशु 14 अप्रैल 2021
28. अक्षय तृतीया  15 मई 2021
29. कजरी तीज  25 अगस्त 2021
30. हरियाली तीज  11 अगस्त 2021
31. रथ यात्रा  21 जुलाई 2021
32. नागं पंचमी  13 अगस्त 2021
33. ओणम  21 अगस्त 2021
34. पर्युषण  4 सितम्बर 2021
35. दुर्गा पूजा  13 अक्टूबर 2021
36. शरद नवरात्रि  7 अक्टूबर 2021
37. शरद पूर्णिमा  19 अक्टूबर 2021
38. करवा चौथ  24 अक्टूबर 2021
39 देव प्रबोधिनी एकादशी  14 नवम्बर 2021

20. गणगौर

हिंदू धर्म के लोगों के लिए गणगौर का त्योहार भी काफी महत्वपूर्ण त्योहार माना जाता है। इस दिन लोग गणगौर की पूजा करते हैं और औरतें गणगौर का व्रत भी रखती है। गणगौर का त्योहार प्रतिवर्ष अप्रैल या मार्च महीने में मनाया जाता है। हिंदी कैलेंडर के अनुसार बातचीत है,तो गणगौर का त्योहार चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार गणगौर की पूजा 15 अप्रैल 2021 को की जाएगी। 15 अप्रैल 2021 के दिन पूरे भारतवर्ष में गणगौर का त्योहार धूमधाम से मनाया जाएगा।

गणगौर के त्यौहार के दिन लड़कियां व महिलाएं भगवान शिव और पार्वती की पूजा करते हैं। गणगौर का त्योहार राजस्थान में एक आस्था का त्योहार है। इस दिन जयपुर के सिटी पैलेस से हजारों की संख्या में महिलाएं गणगौर बनकर जुलूस के रूप में निकालती है। महिलाएं इस दिन गणगौर का व्रत रखती है। उसके पश्चात गणगौर की कहानी एक दूसरे को सुनाती है,एवं बाद में व्रत खोला जाता है।

21. महावीर जयंती

महावीर जयंती का त्योहार भी कई सालों भारत वर्ष में मनाया जाता है। महावीर जयंती का त्योहार भगवान महावीर स्वामी के जन्म के उपलक्ष में मनाया जाता है। जैन समुदाय के लोगों के लिए महावीर जयंती का त्यौहार एक महत्वपूर्ण त्यौहार होता है और जैन समुदाय के लोग महावीर स्वामी को भगवान के रूप में पूजते हैं। महावीर स्वामी को वर्धमान स्वामी के नाम से भी जाना जाता है। 

हिंदी कैलेंडर के अनुसार महावीर स्वामी के जन्मदिन को महावीर जयंती के रूप में चैत्र शुक्ल पक्ष की तेरस के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष महावीर जयंती का त्यौहार 25 अप्रैल 2021 को रविवार के दिन मनाया जाएगा। महावीर स्वामी का जन्म 411 ईसवी में बिहार राज्य के एक गांव में हुआ था। उस दिन के पश्चात इस त्यौहार को महावीर जयंती के रूप में मनाया जाता है।

22. हनुमान जयंती

हिंदू धर्म के लोग भगवान श्री राम के सच्चे भक्त हनुमान जी को बड़े ही सम्मान के साथ पूजते हैं। हनुमान जी को भगवान का दर्जा हिंदू धर्म के लोगों द्वारा मिला हुआ है। हिंदू धर्म के लोग हनुमान जी को संकट मोचन के नाम से भी जानते हैं और माना जाता है, कि हनुमान जी का नाम लेने से हर प्रकार का संकट दूर हो जाता है। हनुमान जयंती को हनुमान जी के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। 

हनुमान जयंती को साल में दो बार मनाया जाता है एक हनुमान जयंती जो हनुमान जी के जन्मदिन के उपलक्ष में मनाई जाती है। यह हनुमान जयंती चैत्र मास की पूर्णिमा के दिन मनाई जाती है और दूसरी हनुमान जयंती दीपावली के दिन मनाई जाती हैं। यह हनुमान जयंती माता सीता द्वारा हनुमानजी को अमरता का वरदान देने पर मनाई जाती है।

माता सीता ने हनुमान जी की भगवान श्री राम के प्रति भक्ति को देखते हुए दीपावली के दिन उनको वरदान दिया था और उसी के उपलक्ष में दूसरी हनुमान जयंती को कार्तिक मास की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। हनुमान जी के जन्मदिन के उपलक्ष पर बनाई जाने वाली हनुमान जयंती इस वर्ष 27 अप्रैल 2021 को मंगलवार के दिन मनाई जाएगी।

23. गुड फ्राइडे

ईसाई समुदाय के लोगों के लिए गुड फ्राइडे का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। भारत वर्ष में रहने वाले इसाई समुदाय भी इस त्यौहार को बड़े ही चाव से मनाते हैं। ईसाई समुदाय भारत के अलावा अन्य कई देशों में रहते हैं। जहां पर जहां को बड़ी उत्सुकता के साथ मनाया जाता है। गुड फ्राइडे का त्यौहार ईस्टर संडे से पहले आने वाले शुक्रवार के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार गुड फ्राइडे का त्यौहार इस साल 2 अप्रैल 2021 को मनाया जाएगा।

24. गुरु पुर्णिमा

गुरु पूर्णिमा के त्यौहार को भारत,नेपाल के साथ अन्य कई देशों में मनाया जाता है। जैन समाज और बौद्ध समाज के लोगों द्वारा गुरु पूर्णिमा के त्यौहार को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। आज के समय में हिंदू धर्म के लोग भी गुरु पूर्णिमा को बड़े धूमधाम से मनाते हैं। इस दिन लोग अपने गुरु जी को गुरु पूर्णिमा की बधाई देते हैं और इस दिन अपने गुरु जी से भविष्य में आगे बढ़ने के बारे में राय लेते हैं। लोग इस दिन अपने गुरु जी की पूजा करते हैं। यह त्यौहार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 24 जुलाई 2021 को मनाया जाएगा।

25. बुद्ध जयंती

बौद्ध धर्म में आस्था रखने वाले लोग बुद्ध जयंती को बड़े ही धूमधाम से मनाते हैं। बुद्ध जयंती का त्योहार वैशाख मास में मनाया जाता है। भगवान गौतम बुद्ध के जन्म के उपलक्ष में इस दिन को बुद्ध जयंती के रूप में मनाया जाता है।  बुद्ध जयंती का त्यौहार वैशाख मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। बुद्ध जयंती के त्यौहार को बौद्ध धर्म के लोगों के साथ साथ हिंदू धर्म के लोग भी मनाते हैं। भारत के अलावा नेपाल में भी बुद्ध जयंती को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। क्योंकि गौतम बुद्ध का जन्म नेपाल में ही हुआ था। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार बुद्ध जयंती का त्यौहार 26 मई 2021 के दिन मनाया जाएगा।

26. बैसाखी

बैसाखी का त्योहार पंजाब और हरियाणा में बड़े ही धूमधाम से मनाए जाने वाले त्योहार है। वैशाखी के त्योहार के दिन पंजाब और हरियाणा के लोग फसल की कटाई करने के पश्चात इस दिन को नए वर्ष के रूप में मनाते हैं। पंजाब हरियाणा के लोगों के लिए बैसाखी का त्यौहार रबी की फसल यह पकने की खुशी का त्यौहार होता है।

 इस त्यौहार को मनाने के पीछे एक मुख्य कारण और भी है। कि इस दिन गुरु गोविंद सिंह जी खालसा पंथ की स्थापना की थी और इसी के उपलक्ष में बैसाखी के त्यौहार को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ पूरे भारतवर्ष में बनाया जाता है। यह त्योहार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार प्रतिवर्ष 13 अप्रैल या 14 अप्रैल के दिन मनाया जाता है।

27. विशु

विशु का त्योहार केरल में मनाया जाने वाला एक लोकप्रिय त्योहार है। यह त्योहार पिछले कई सालों से केरल राज्य में धूमधाम से मनाया जाता है। इस पर्व को मुख्य रूप से भारत के साउथ क्षेत्र जैसे तमिलनाडु और केरल में मुख्य रूप से मनाया जाता है। विशु का त्यौहार केरल में वैशाख मास की एकम् के दिन मनाया जाता है। इस साल अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार बात की जाए,तो यह त्योहार केरल में 14 अप्रैल 2021 को मनाया जाएगा। मलयालम वे इस त्यौहार को नव वर्ष के रूप में भी मनाया जाता है क्योंकि यह त्योहार मलयालम कैलेंडर के पहले दिन मनाया जाता है।

28. अक्षय तृतीया (आका तीज) 

अक्षय तृतीया का त्योहार हिंदू धर्म के लोगों का काफी लोकप्रिय त्योहार मनाया जाता है। इस दिन लोग खरीफ की फसल के माहौल का अनुमान लगाते हैं। अक्षय तृतीया त्योहार के अवसर पर आसपास के लोग एक साथ इकट्ठे होते हैं और इस साल खरीफ की फसल कैसी होगी, इसके बारे में भविष्यवाणी करते हैं। 

इस दिन बाजरे का खीच बनाया जाता है। यह त्योहार वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन मनाया जाता है। इस दिन शादी के भी अनगिनत मुहूर्त रहते हैं। माना जाता है, कि इस दिन यदि कोई व्यक्ति शादी करना चाहता है। तो उसे मुहूर्त पूछने की आवश्यकता नहीं है। इस दिन अनगिनत मुहूर्त होते हैं। इस साल अक्षय तृतीया का त्योहार 15 मई 2021 को शनिवार के दिन मनाया जाएगा।

29. कजरी तीज

तीज का त्यौहार हिंदू धर्म की महिलाओं के लिए एक लोकप्रिय त्यौहार है। तीज के त्यौहार के दिन हिंदू धर्म की महिलाएं व्रत रखती है और शाम को चंद्रमा का दर्शन करके तीज का व्रत खोला जाता है। तीज के त्यौहार को श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन मनाया जाता है।

इस दिन सभी सुहागन महिलाएं अपने सुहाग के लिए व्रत रखती हैं। हिंदू धर्म की महिलाएं तीज के त्यौहार को बड़े ही धूमधाम से मनाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह त्यौहार 25 अगस्त 2021 के दिन मनाया जाएगा। इस दिन महिलाएं अपने पति के लंबी उम्र की मनोकामनाएं के लिए व्रत रखती है और कुंवारी लड़कियां अच्छा वर प्राप्त करने के लिए कजरी तीज के दिन व्रत रखती है। 

30. हरियाली तीज

हरियाली तीज का त्यौहार हिंदू धर्म की महिलाओं के लिए काफी महत्व रखने वाला त्योहार है। इस दिन भी महिलाएं अपने पति के लंबी उम्र की कामना करने के लिए व्रत रखती है। इसके अलावा हरियाली तीज का संबंध भारत में खरीफ की फसल को लेकर चारों तरफ जो हरियाली फैलती है। उस हरियाली से भी इस त्योहार का तालुक है।

भारत में हरियाली तीज हिंदी कैलेंडर के अनुसार हरियाली अमावस्या के पश्चात आने वाली तीज के दिन मनाई जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष हरियाली तीज का त्यौहार 11 अगस्त 2021 को मनाया जाएगा। 

31. रथ यात्रा

यह त्यौहार उड़ीसा राज्य में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। उड़ीसा राज्य में भगवान जगन्नाथ जी की जन्मभूमि है। उड़ीसा राज्य में भगवान जगन्नाथ जी को युगल की मूर्ति का प्रतीक माना जाता है। इसीलिए जगन्नाथ जी की रथ यात्रा का यह त्यौहार बड़े ही धूमधाम से पूरे देश भर में मनाया जाता है।

हालांकि इस त्यौहार का प्रचलन उड़ीसा राज्य में बहुत ज्यादा है। उड़ीसा राज्य में यह त्योहार आषाढ़ मास के शुक्लपक्ष की द्वितीया के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक रथयात्रा का त्योहार 21 जुलाई 2021 को मनाया जाएगा।

32. नाग पंचमी 

नाग पंचमी का त्योहार भारत में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। यह त्योहार जिस दिन लोग नाग देवता की पूजा करते हैं और नाग देवता को दूध से स्नान करवा कर,उन्हें दूध का भोग लगाते हैं। नाग पंचमी के त्यौहार के दिन लोग अपनी  मनोकामना की पूर्ति करने के लिए मन्नत मनाते हैं। यह त्योहार मुख्य रूप से हिंदू धर्म के लोगों द्वारा मनाया जाता है।

 इसके अलावा हिंदू धर्म के कई ग्रामीण इलाकों में नाग पंचमी के दिन कुश्ती गेम का भी आयोजन किया जाता है। नागपंचमी का त्योहार हिंदी कैलेंडर के अनुसार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन मनाया जाता है। दूसरी तरफ अंग्रेजी कैलेंडर की बात करें,तो अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार नाग पंचमी का त्यौहार इस साल 13 अगस्त 2021 को शुक्रवार के दिन पूरे देशभर में मनाई जाएगी।

33. ओणम

ओणम का त्योहार दक्षिण भारत में धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। पूनम का त्योहार मुख्य रूप से केरल में सर्वाधिक लोकप्रियता के साथ मनाया जाता है। केरल राज्य के लोगों द्वारा ओणम का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।  यह त्योहार जिसे केरल राज्य में राष्ट्रीय पर्व का दर्जा दिया गया है। इस त्यौहार को केरल के लोग राजा महाबली के स्वागत के उपलक्ष में मनाते हैं।

 केरल राज्य में इस त्यौहार को मिठाइयां बांटकर मनाया जाता है। साथ ही साथ लोग अपने घरों को सजाते हैं। घरों में रंगोलियां बनाते हैं। ओणम के त्यौहार के दिन केरल राज्य में नौका दौड़ जैसे खेल का आयोजन किया जाता है। ओणम का त्योहार मलयाली कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है। इसलिए अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह त्योहार अगस्त व सितंबर के महीने में आता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष औणम का त्यौहार 21 अगस्त 2021 को मनाया जाएगा।

34. पर्यूषण

पर्यूषण का त्योहार जैन धर्म के लोगों के लिए काफी लोकप्रिय त्यौहार है। जैन समुदाय के लोग इस त्यौहार को बड़े धूमधाम से मनाते हैं। इस त्योहार को जैन समुदाय के लोग भाद्रपद मास में मनाते हैं। यह त्योहार भाद्रपद मास में 8 दिन तक चलने वाला त्यौहार है। जैन धर्म के लोग पहले 8 दिन तक पर्युषण त्योहार को मनाते हैं।

उसके पश्चात दिगंबर धर्म के लोग इस त्यौहार को 10 दिन तक बनाते हैं। इस त्यौहार को दशलक्षण धर्म के नाम से भी जाना जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक इस वर्ष पर्युषण त्यौहार 4 सितंबर 2021 से शुरू होगा।

35. दुर्गा पूजा

दुर्गा पूजा का त्योहार दक्षिण एशिया में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है। यह त्यौहार हिंदू धर्म के लोगों के लिए एक लोकप्रिय त्योहार माना जाता है। इस दिन लोग दुर्गा माता की पूजा करते हैं। घर में मिठाइयां और पकवान बनाते हैं। दुर्गा पूजा का त्योहार आश्विन मास में 6 दिन तक चलने वाला त्यौहार है। यह त्यौहार अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी से शुरू होता है। जो अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तक चलता है। 

दुर्गा पूजा का त्योहार भारत के अलावा नेपाल राज्य में भी मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक इस वर्ष दुर्गा पूजा का त्यौहार 13 अक्टूबर 2021 को पूरे भारतवर्ष में बनाया जाएगा। दुर्गा पूजा का यह त्यौहार जो आश्विन मास में 6 दिन चलता है। लेकिन दुर्गा अष्टमी के दिन इस त्यौहार को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है।

36. अश्विन मास नवरात्रि ( शरद नवरात्रि) 

भारत में नवरात्रि का त्योहार काफी लोकप्रिय है। हिंदू धर्म के लोग नवरात्रि के त्योहार को बड़े ही उत्साह के साथ मनाते हैं। नवरात्रि के त्यौहार को हिंदू धर्म के लोग 9 दिन तक मनाते हैं। 9 दिन तक लोग अपने घरों में सभी देवी देवताओं की पूजा करते हैं और उपवास रखते हैं। नवरात्रि का त्योहार साल में दो बार आता है।

एक नवरात्रि चैत्र मास में आता हैं और दूसरी नवरात्रि आश्विन मास में आता हैं अश्विन मास में आने वाले नवरात्रि के त्योहार के 9 दिन पूरे होने के बाद दसवे दिन दशहरा मनाया जाता है। अश्विन मास में नवरात्रि का त्योहार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष एकम् से लेकर नवमी तक मनाया जाता है। नवरात्रि का त्योहार 7 अक्टूबर 2021 से शुरू होने वाला है।

37. शरद पूर्णिमा

शरद पूर्णिमा का त्योहार भारत का एक लोकप्रिय त्यौहार है। इस त्यौहार को भारत में आश्विन मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। शरद पूर्णिमा को मनाने के पीछे भी एक मुख्य कारण है  शरद पूर्णिमा को इसलिए बनाया जाता है। क्योंकि ज्योतिष के अनुसार बताया जा रहा है, कि चंद्रमा की सोलह कलाइयां सिर्फ इसी दिन पूरी होती है और इसीलिए इस दिन को शरद पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। उत्तर भारत में लोक शरद पूर्णिमा के दिन खीर बनाकर चंद्र भगवान को चढ़ाते हैं और उसके पश्चात उसका प्रसाद लोगों को बांटते हैं।

शरद पूर्णिमा के दिन माना जाता है,कि चंद्रमा की 16 कलाओं से अमृत बरसता है और इसीलिए लोग रात्रि के समय चंद्रमा की किरणों के संपर्क में आते हैं। शरद पूर्णिमा का व्रत रखते समय लोग अपने मन की मनोकामना चंद्र भगवान से मांगते हैं। इंग्लिश कैलेंडर के अनुसार शरद पूर्णिमा का त्यौहार इस वर्ष 19 अक्टूबर 2021 को मंगलवार के दिन मनाया जाएगा।

38. करवा चौथ

भारत में करवाचौथ का त्योहार महिलाओं के लिए एक प्रमुख त्योहार माना जाता है। महिलाएं अपने सुहाग के लिए इस दिन व्रत रखती है। करवा चौथ के त्यौहार के दिन हिंदू धर्म के अलावा अन्य धर्म की महिलाएं अपने पति के लंबी उम्र की कामना करते हुए व्रत रखती है और शाम को चंद्रमा का दर्शन करने के बाद पति का मुंह देख कर पानी पीती है।

 मतलब इस दिन महिलाएं पूरे दिन बिना कुछ खाए बिना कुछ पिए अपने पति की लंबी उम्र की कामना करने के लिए व्रत रखती है। करवा चौथ का त्यौहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन मनाया जाता है। करवा चौथ का व्रत चतुर्थी के दिन सूर्योदय से पहले सुबह 4:00 बजे से शुरू होता है और शाम को चंद्र दर्शन के बाद खत्म हो जाता है। इस साल करवा चौथ का का त्योहार 24 अक्टूबर 2021 को रविवार के दिन मनाया जाएगा।

39. देव प्रबोधिनी एकादशी

भारत में ज्यादातर लोग एकादशी का व्रत अवश्य रखते हैं। एकादशी के दिन को भारत में रहने वाले लोग शुभ मानते हैं, और इस दिन व्रत रखकर अपनी मनोकामनाएं भगवान से मांगते हैं। देव प्रबोधिनी एकादशी का त्यौहार देव झुलनी ग्यारस के पश्चात शुरू होता है। जो कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तक चलता है।

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन देव प्रबोधिनी एकादशी का त्यौहार मुख्य रूप से मनाया जाता है। उसके पश्चात यह त्यौहार समाप्त हो जाता है। देव प्रबोधिनी एकादशी का त्यौहार पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। यह त्योहार मुख्य रूप से हिंदू धर्म का त्यौहार है। देव प्रबोधिनी एकादशी का यह त्योहार इस वर्ष 14 नवंबर 2021 को मनाया जाएगा। 

40. धनतेरस  2 नवम्बर 2021
41. रुप चौदस  3 नवम्बर 2021
42. गोवर्धन पुजा  5 नवम्बर 2021
43. भाई दूज  6 नवम्बर 2021
44. गुरु पर्व  19 नवम्बर 2021
45. छठ पूजा  10 नवम्बर 2021
46. लोसर —-
47. कार्तिक पूर्णिमा  19 नवम्बर 2021
48. गोपाष्ठमी 11 नवम्बर 2021
49. विवाह पंचमी  8 दिसम्बर 2021
50.  मडला पुजा 26 दिसम्बर 2021

40. धनतेरस

धनतेरस के त्यौहार के बारे में आप सभी अच्छी तरह से वाकिफ होंगे। क्योंकि यह त्योहार दीपावली के दिन से 2 दिन पहले मनाया जाता है। दीपावली का त्यौहार जो पूरे भारतवर्ष का एक लोकप्रिय त्यौहार है। दीपावली के त्यौहार से 2 दिन पहले धनतेरस का त्यौहार मनाया जाता है।

इस दिन लोग घर में कुछ नया सामान खरीदते हैं और धन लाने की कोशिश करते हैं। साथ ही साथ लोगों द्वारा अपने घर में धन की वर्षा होने के लिए भगवान से कामना की जाती है और कुबेर भंडार की पूजा की जाती है।

धनतेरस के त्यौहार को राष्ट्रीय आयुर्वेदिक दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। धनतेरस का त्यौहार कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की तेरस के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार बात की जाए, तो धनतेरस का त्यौहार इस वर्ष 2 नवंबर 2021 के दिन मनाया जाएगा।

41. रूप चौदस

रूप चौदस का त्यौहार भी भारत में काफी लोकप्रिय त्यौहार है  इस त्यौहार को धनतेरस के एक दिन बाद यानी कि दीपावली के 1 दिन पहले मनाया जाता है। रूप चौदस का त्यौहार भारतवर्ष में कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह त्यौहार एक वर्ष 3 नवंबर 2021 के दिन पूरे भारतवर्ष में मनाया जाएगा। रूप चौदस के दिन लोग अपने घर में 14 दिए जला कर घर के सभी देवी देवताओं की पूजा करते हैं।

42. गोवर्धन पूजा

गोर्धन पूजा का त्योहार भारत में दीपावली के 1 दिन बाद मनाया जाता है। यह त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन जब लोग अपने घर में गोवर्धन पूजा करते हैं। तब पटाखे भी फोड़ते हैं। गोवर्धन पूजा के दिन लोग घर में गाय के गोबर की एक मूर्ति बनाते हैं और उसकी पूजा गोवर्धन समझकर करते हैं। भारत में गोवर्धन पूजा का त्यौहार कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकम् के दिन मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर की बात करें, तो इस वर्ष गोवर्धन पूजा का त्यौहार 5 नवंबर 2021 के दिन मनाया जाएगा।  

गोवर्धन पूजा करने के लिए लोग सुबह जल्दी उठकर स्नान करते हैं और उसके पश्चात अपने घर में देवी-देवताओं के कमरे में गाय का गोबर से गोवर्धन पर्वत की आकृति की एक मूर्ति बनाते हैं और उसके पश्चात उस पर्वत की पूजा करते हैं। साथ में गोवर्धन पर्वत की पूजा करते समय लोग पटाखे फोड़ते हुए इस त्यौहार का जश्न मनाते हैं।

43. भाई दूज

दीपावली के 2 दिन पश्चात भाई दूज का त्योहार पूरे भारतवर्ष में बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस दिन लोग आपस में एक दूसरे से गले मिलते हैं और भाईचारा को बढ़ावा देते हैं। भाई दूज का यह त्यौहार भाईचारे को बढ़ावा देने और भाइयों में प्यार बांटने का त्योहार माना जाता है। 

भाई दूज त्यौहार के दिन बहन अपने भाई के लंबी उम्र की कामना करती हैं और भगवान से अपने भाई को सदा स्वस्थ स्वस्थ रखने और उसकी लंबी उम्र की प्रार्थना करती है। हिंदी पचांग के अनुसार भाई दूज का यह त्यौहार कार्तिक मास के शुक्लपक्ष की द्वितीया के दिन मनाया जाता है। यदि अंग्रेजी कैलेंडर की बात करें, तो यह त्यौहार इस साल 6 नवंबर 2021 के दिन मनाया जाएगा। 

44. गुरु पर्व

नानक गुरुदेव जिनको सिखों का प्रथम गुरु माना जाता है। नानक गुरुदेव के जन्म के उपलक्ष में इस गुरु पर्व को मनाया जाता है। नानक गुरुदेव का जन्म 534 ईस्वी में हुआ था और उसी के उपलक्ष में गुरु पर्व सिख धर्म के लोगों द्वारा मनाया जाता है। गुरु पर्व का त्यौहार इस वर्ष 19 नवंबर 2021 को मनाया जाएगा।

45. छठ पूजा

हिंदू धर्म के लोगों के लिए छठ पूजा का त्यौहार भी काफी लोकप्रिय त्योहार माना जाता है।।छठ पूजा का त्यौहार कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की छठ के दिन मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने घर में दीए जलाकर इस त्योहार को मनाते हैं। यह त्योहार दीपावली से 6 दिन बाद मनाया जाता है। छठ पूजा का त्योहार पूर्वी भारत में कॉफी हर्षोल्लास से मनाया जाता है। मुख्य रूप से बिहार राज्य में इस त्योहार का महत्व बहुत ज्यादा है। 

छठ पूजा का त्यौहार बिहार राज्य की वैदिक संस्कृति का एक हिस्सा बन चुका है। छठ पूजा के दिन लोग सुबह जल्दी उठकर स्नान करते हैं और सूर्य भगवान का व्रत रखते हैं। सूर्य भगवान से अपने भविष्य की मनोकामनाएं के लिए मन्नत मांगते हैं। शाम को लोग घर में दीपक जलाकर छठ पूजा के त्यौहार को हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस साल छठ पूजा का त्यौहार 10 नवंबर 2021 को मनाया जाएगा।

46. लोसर

भारत के पूर्वी क्षेत्र में लोसर का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। मुख्य रूप से आसाम और सिक्किम राज्य में इस त्यौहार को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। भारत के अलावा इस त्यौहार को बांग्लादेश, नेपाल, भूटान इत्यादि पूर्वी देशों में मनाया जाता है। भारत के पूर्वी राज्यों में लोसर के त्यौहार को नए वर्ष के रूप में मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने घर में मिठाइयां बनाकर इस त्योहार को मनाते हैं और एक दूसरे को नया वर्ष की शुभकामनाएं भी इस दिन देते हैं। 

47. कार्तिक पूर्णिमा

कार्तिक पूर्णिमा का त्योहार दीपावली के 15 दिन बाद मनाया जाता है। दीपावली का त्यौहार कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है और कार्तिक पूर्णिमा का त्यौहार कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन लोग अपने घरों में दिए जलाकर इस त्योहार को मनाते हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा का त्योहार इस वर्ष 19 नवंबर 2021 के दिन मनाया जाएगा। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर लोग पूर्णिमा का व्रत रखते हैं और शाम के समय शंकर भगवान की भजन संध्या का आयोजन भी करते हैं।

48. गोपाष्टमी

हिंदू धर्म के लोगों के लिए गोपाष्टमी का त्यौहार भी काफी महत्व रखता है। गोपाष्टमी का त्यौहार कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन मनाया जाता है। मतलब ऐसे कह सकते हैं, कि दीपावली के 8 दिन बाद इस त्यौहार को मनाया जाता है। गोपाष्टमी के त्यौहार के दिन गौ माता की पूजा की जाती है। क्योंकि हिंदू धर्म के लोग गौ माता को मां के समान मानते हैं। और गौमाता से लोगों को कई प्रकार के फायदे होते हैं।

इसलिए लोग अपने घर में जो गाय पालते हैं। उसकी पूजा करते हैं और जिन लोगों के घर में गाय नहीं है। वह लोग आवारा गाय कि पूजा करके उस गाय को मिठाई खिलाते हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार गोपाष्टमी का त्यौहार 11 नवंबर 2021 को मनाया जाएगा।

49. विवाह पंचमी

विवाह पंचमी का त्योहार भारत में मनाया जाता है। विवाह पंचमी का त्यौहार मनाने के पीछे भी एक मुख्य वजह है। विवाह पंचमी के त्यौहार को भारत में इसलिए मनाया जाता है। क्योंकि राजा जनक की पुत्री के रूप में माता सीता ने जन्म लिया था और इसी के उपलक्ष में विवाह पंचमी को मार्ग-शीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी के दिन इस त्यौहार को मनाया जाता है। यह त्यौहार हिंदू धर्म के लोगों का एक लोकप्रिय त्यौहार है। साल 2021 में विवाह पंचमी का त्यौहार 8 दिसंबर 2021 को मनाया जाएगा।

50. मंडला पूजा

केरल में भगवान अय्यप्पा का मंदिर काफी प्रसिद्ध है और केरल में सबरीमाला मंदिर जो कि लोकप्रिय पर्यटक स्थलों में से एक माना जाता है।।इस सबरीमाला मंदिर में भगवान अय्यप्पा की एक विशेष पूजा प्रतिवर्ष 26 दिसंबर के दिन रखी जाती है और इस वर्ष 26 दिसंबर 2021 के दिन मंडला पूजा कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

भगवान अय्यप्पा जो बाल ब्रह्मचारी थे। इसीलिए भगवान अय्यप्पा के मंदिर में छोटी बच्चीया  और वृद्ध महिलाएं भी दर्शन कर सकती हैं। बाकी लड़कियों और जवान महिलाओं को इस मंदिर में जाने की अनुमति नहीं दी जाती है। सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा की जो विशेष पूजा कार्यक्रम होता है। उसे एक त्यौहार की तरह मनाया जाता है और इसका नाम मंडला पूजा रखा गया है।

Conclusion:-

भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है। भारत में जनवरी से लेकर दिसंबर तक प्रत्येक महीने में त्यौहार आते हैं।

भारत में हिंदू धर्म के अलावा अन्य कई धर्म के लोग भी रहते हैं और सभी धर्म के लोगों के अलग-अलग त्योहार प्रति वर्ष मनाए जाते हैं। भारत में मनाए जाने वाले त्योहारों की संख्या सैकड़ों में है। लेकिन आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से भारत में मनाए जाने वाले 50 लोकप्रिय त्योहारों के बारे में आप तक जानकारी पहुँचाई है।

इसके अलावा साल Festivals of India 2021 में कौन सा त्यौहार कौन सी तारीख को मनाया जाएगा। इसके बारे में भी जानकारी उपलब्ध करवाई गई है। 

साथ ही साथ हिंदी कैलेंडर के अनुसार कौन सी तिथि के दिन त्योहार को मनाया जाएगा। इसके बारे में भी संपूर्ण जानकारी आप तक उपलब्ध करवाई है। भारत के 50 लोकप्रिय त्योहार जो देशभर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाते हैं। उसके बारे में जानकारी आपको इस आर्टिकल के जरिए अवश्य मिल गई होगी।

उम्मीद करता हूं, कि हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से संबंधित कोई सवाल यह सुझाव है। तो वह हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकता है। 

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hostinger

Advertisement