Connect with us

Jivani

Rohit Sharma Biography In Hindi: रोहित शर्मा का सम्पूर्ण जीवन परिचय

Rohit Sharma Biography In Hindi

हमारे देश भारत में आप क्रिकेट की प्रसिद्धि का अंदाजा इस बात से ही लगा सकते है। की पूरे विश्व में क्रिकेट देखे को देखे जाने वालो की संख्या में भारत शीर्ष स्थान पर है।  आपको यकीन ही नही होगा की भले ही भारत का राष्ट्रीय खेल तो हाकी है। लेकिन भारत में आज हर तीसरे माता पिता अपने बच्चे को क्रिकेटर बनाना चाहते है। इस प्रतिस्पर्धा भरे में खेल जगत में यदि किसी को भी सफलता प्राप्त करना है और यदि उसे उसके जीवन सबसे हटके अलग कुछ करना है।

तब वह व्यक्ति जिसे जीवन में कुछ बड़ा करना है और सफल होना है। वह व्यक्ति उस बड़े काम को शुरुआत के छोटे छोटे संघर्षो के बगैर कर ही नही सकता है। देखा जाए तो हमारे जीवन में सफलता की परिभाषा यही है। जो व्यक्ति साधारण लोगो से निकलकर असाधारण बनने की राह पर चलता है, तो उसके जीवन मे शुरू शुरू में वह बड़ी बड़ी मुश्किलें आती है।

जिन शुरूआती मुश्किलों से साधारण लोग हार मान लेते है, लेकिन जो व्यक्ति असाधारण होते है। वो इन मुश्किलो में अपनी मानसिक और शारीरक सीमओं के पार जाकर अपनी क्षमताओ को परखते है और जीवन में सफलता हासिल करते है। आज हम एक ऐसे ही असाधारण व्यक्ति की बात करेंगे जिसने एक छोटे तथा साधारण से माध्यम वर्गीय परिवार जन्म लिया। लेकिन साधारण से असाधारण व्यक्ति बनने के लिए उस व्यक्ति ने अपने जीवन में आने वाली सभी कठिनाइयों को पार किया और आज क्रिकेट खेल भारतीय क्रिकेट टीम का एक बेहतरीन तथा प्रसिध्दी प्राप्त खिलाडी है।

1 Name Rohit Gurunath Sharma
2 Age 33 Years, ( 30 April 1987 ), Nagpur.
3 Education Swami Vivekanand International School and Junior College, Mumbai Our Lady of Vailankanni High School, Mumbai
4 Profession Indian International Cricketer
5 NetWorth $18.7 Million, (INR 130 crore)
6 Father / Mother Gurunath Sharma / Purnima Sharma
7 Family Wife: Ritika Sajdeh, Childern: Samaira Sharma
8 Known As HitMan, Indian Cricketer, Captain of Mumbai Indians ( IPL )
9 Religion Hinduism
10 Nationality Indian

जी हां बिलकुल, आज हम बता कर रहे है भारतीय क्रिकेट टीम के हिटमैन रोहित शर्मा की। जो की शुरुआत में पैसो की कमी की वजह से अपने माता पिता से दूर रहे थे और जिन्हें पास अपनी स्कूल की फीस भरने के भी पैसे नही हुआ करते थे। रोहित शर्मा जिन्होंने बेहद ही साधारण सी परिस्थितियों में अपने जीवन की शुरुआत की और भारतीय क्रिकेट जगत में उस मुकाम पर है। जहा पहुचने के करोडो युवा क्रिकेट खिलाडी मात्र सपने ही देखते है।

रोहित शर्मा भारत के एकलौते ऐसे खिलाडी है जिन्होंने क्रिकेट में तीन दोहरे शतक लगाने का कारनामा किया है। भारत में उनके प्रशंसको की संख्या करोडो में है और आज रोहित शर्मा भारत के सबसे चहेते क्रिकेट खिलाडी है। आज के इस आर्टिकल में हम Rohit Sharma Biography In Hindi तथा रोहित शर्मा का सम्पूर्ण जीवन परिचय को जानेंगे।

Rohit Sharma का बचपन:

आज जो बेहतरीन बल्लेबाज गेंदबाजो के सपनो में आकर उन्हें डराता है। उस रो-हिटमैन रोहित शर्मा का जन्म 30 अप्रैल, 1987 को महाराष्ट्र के नागपुर की बांसोड नामक जगह पर हुआ था। रोहित शर्मा की माँ का नाम पूर्णिमा शर्मा था, वही उसके पिता का नाम गुरुनाथ शर्मा है। जब रोहित छोटे थे तब उनके पिता गुरुनाथ शर्मा एक ट्रांसपोर्ट फर्म की देखरेख करते थे।

शुरुआत में रोहित शर्मा के परिवार की आर्थिक स्थिति बिलकुल भी अच्छी नही थी। इसी कारण से रोहित शर्मा ने अपना अधिकतर बचपन अपने दादा दादी के यहा व्यतीत किया था। रोहित ने अपना शुरूआती बचपन बोरीवली मुंबई में स्थित अपने अपने दादा दादी के यहा बिताया था, हमारे हिटमैन शर्मा को क्रिकेट का बुखार तो बचपन से ही चढ़ा हुआ था।

Rohit Sharma का शुरुआती जीवन:

चूँकि रोहित शर्मा को क्रिकेट में बचपन से ही रूचि थी, लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नही थी। लेकिन रोहित के क्रिकेट के प्रति जूनून उर शौक को देखते हुए , रोहित के अंकल ने उन्हें आगे बढाने के लिए आर्थिक रूप से मदद की थी। अपने अंकल द्वारा दी गयी इसी आर्थिक मदद से रोहित शर्मा ने साल 1999 में रोहित ने पास ही स्थित एक क्रिकेट एकेडमी को ज्वाइन किया था। इस क्रिकेट एकेडमी में रोहित शर्मा के कोच दिनेश लाड़ थे।

जिन्होंने रोहित को क्रिकेट के प्रति जबरदस्त रूप से जुनूनी होते हुए देखा है, रोहितं की एकेडमी में उनके कोच रोहित के खेल से बहुत प्रभावित हुए थे। इसीलिए रोहित के कोच ने रोहित को आगे बढाने तथा अधिक मौके देने के लिए उन्हें अपना स्कूल बदलने की सलाह दी थी। दरअसल बात यह थी की रोहित जिस स्कूल में अपनी शुरूआती पढाई कर रहे थे।

उस स्कूल में क्रिकेट का इतना अच्छा माहौल नही था, लेकिन पास ही स्थित स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल में क्रिकेट का जबरदस्त माहौल तथा क्रिकेट के लिए अच्छी सुविधा भी थी। यह रोहित के आगे के क्रिकेट करियर के रिये बहुत अच्छी बात थी। लेकिन आप रोहित शर्मा के जीवन के शुरुआती संघर्ष का अंदाजा इसी बात से लगा सकते है। की रोहित तथा उसके परिवार के पास उस समय इस स्कूल की फीस भरने के भी पैसे नही थे।

लेकिन इस मुश्किल समय में रोहित के कोच दिनेश ने उनकी बहुत सहायता की थी। उन्होंने रोहित को स्कूल से स्कोलरशिप भी दिलाई थी। इस स्कालरशिप की मदद से रोहित को चार साला तक कोई भी फीस नही देना था। जिससे रोहित सिर्फ अपने क्रिकेट खेल को बेहतर करने पर ध्यान दे सकते थे। यहा से रोहित का खेल दिन प्रतिदिन बेहतर होता जा रहा था। चलिए हम हम जानते है की रोहित शर्मा ने क्रिकेट जगत में किस प्रकार से सफलता हासिल की थी और उन्हें क्रिकेट लगत में किन किन समस्याओ का सामना करना पड़त था।

Rohit Sharma की क्रिकेट में सफलता:

चूँकि रोहित शर्मा के कोच दिनेश लाड़ ने शुरुआत में रोहित शर्मा की बहुत सहायता की थी। उन्होंने रोहित को उनके स्कूल में स्कालरशिप दिलवाने में मदद की थी। जिससे को रोहित को अगले चार सालो तक किसी भी तरह की फीस नही देना पड़े। क्योकि शुरुआत में रोहित शर्मा के परिवार के आर्थिक हालात अच्छे नही थे। स्कालरशिप मिलने से रोहित अब बेहतर तरीके से अपने खेल पर धान दे रहे थे। जिससे रोहित का खेल हर दिन बेहतर होता जा रहा था। आपको यह सुनकर आश्चर्य होगा की शुरुआत में रोहित शर्मा अपने शुरूआती समय में एक ऑफ स्पिनर ( बालर ) हुआ करते थे। लेकिन दिनेश लाड़ ने रोहित शर्मा के खेल को करीब से देखा था।

इसलिए उन्होंने रोहित को आठ नंबर पर खेलने से मना किया और अगले मैचो में रोहित शर्मा को बल्लेबाजी में ओपनिंग करने के लिए कहा था।  दरअसल रोहित के कोच दिनेश लाड़ को रोहित की छुपी हुई प्रतिभा का अंदाजा था। बस रोहित को मौके मिलने का इंतजार था, अपने कोच के कहने पर रोहित शर्मा ने बतौर ओपनर बल्लेबाज अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद रोहित ने अपने स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में बतौर ओपनर बल्लेबाज बैटिंग की थी। यहा रोहित शर्मा ने स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में बेहतरीन शतक भी लगाया था।

रोहित शर्मा ने इन चार सालो में कड़ी मेहनत करते हुए तथा क्रिकेट खेलते हुए रोहित ने क्रिकेट की सभी बारीकियो को सीखा। रोहित की कड़ी मेहनत उनकी बल्लेबाजी से साफ़ साफ़ झलकती थी। अब रोहित शर्मा को सिर्फ आगे खेलने के लिए मौके का बेसब्री से इंतज़ार था। रोहित शर्मा को प्रोफेशनल क्रिकेट जगत में खेलने के लिए पहला मौका डोमेस्टिक क्रिकेट में मिला। चलिए अब जानते है की किस तरह से रोहित शर्मा ने अपना करियर डोमेस्टिक क्रिकेट से शुरू किया था।

  • रोहित शर्मा की कड़ी मेहनत को देखते हुए उनको डोमेस्टिक क्रिकेट में खेलने का मौका मिला था। रोहित शर्मा ने अपने डोमेस्टिक करियर की शुरुआत की 2005 की देवधर ट्रॉफी में वेस्ट जोन की तरफ सेन्ट्रल ज़ोन के खिलाफ खेलते हुए अपने डोमेस्टिक करियर की शुरुआत की थी। लेकिन रोहित शर्मा ने लोगो के बीच अपनी जगह तब बनाई जब उन्होंने नार्थ ज़ोन के खिलाफ खेलते हुए 123 गेंदों में 142 रनों की शानदार पारी खेली थी।
  • डोमेस्टिक क्रिकेट में रोहित शर्मा के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए, उन्हें आगे भी खेलने का मौका मिला। इसके बाद उन्होंने इंडिया A की टीम में खेलने के लिए चुन लिया गया था। इंडिया A के लिए खेलते हुए रोहित शर्मा ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था रोहित ने अपनी प्रतिभा और अपने खेल से सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया था।  इंडिया A के लिए खेलते हुए उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया, यह उनके खेल का ही नतीजा था। की रोहित शर्मा को Champions Trophy के संभावित 30 खिलाडियों में चुन लिया गया था। हालाँकि उन्हें शीर्ष खिलाडियों में शामिल नही किया गया था, जबकि यह बात रोहित के रणजी ट्राफी में डेब्यू के पहले की थी।
  • इसके बाद साल 2006-2007 में रोहित शर्मा ने रणजी क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था। लेकिन दुर्भाग्य से रोहित शर्मा रणजी ट्राफी में खेलते हुए कुछ ख़ास प्रदर्शन नही कर सके थे। यह उनके क्रिकेट करियर का थोडा सा मुश्किल समय था, लेकिन रोहित शर्मा ने रणजी ट्राफी के एक मैच में गुजरात के खिलाफ खेलते हुए 205 रनों की शानदार पारी खेली थी। यह रोहित शर्मा के प्रोफेशनल क्रिकेट करियर का पहला दोहरा शतक था।
  • अपने बेहतरीन प्रदर्शन से रोहित सिलेक्टर्स की नजरो में आने लगे थे, चलिए अब हम रोहित शर्मा के अन्तराष्ट्रीय करियर के बारे में जानते है। रोहित शर्मा ने वनडे क्रिकेट में भारत की ओर से खेलते हुए 2007 अपना डेब्यू आयरलेंड के खिलाफ किया था। हालाँकि रोहित की आयरलेंड के खिलाफ सीरिज के केवल एक ही मैच में टीम मे शामिल किया गया था। लेकिन उस मैच में भी रोहित शर्मा को बल्लेबाजी करने का मौका नही मिला पाया था। इसके बाद रोहित शर्मा ने अपना टी 20 डेब्यू करते हुए साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए अपने पहले मैच में 40 गेंदों पर 50 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली थी। इस सीरिज में रोहित शर्मा मैंन ऑफ़ द मैच भी बने थे। शायद सौभाग्य से यही रोहित के क्रिकेट करियर का टर्निंग पॉइंट भी था।
  • इसके बाद रोहित शर्मा ने ज़िम्बाब्वे के खिलाफ खेलते हुए साल 2010 में अपने करियर पहला शतक लगाया था। इसके बाद रोहित शर्मा ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखते हुए अगले ही मैच में शानदार शतक लगाया था। इस बेहतरीन प्रदर्शन से रोहित शर्मा ने भारतीय टीम के लिए अपनी जगह पक्की कर ली थी। रोहित को चैंपियंस ट्राफी के लिए सिलेक्ट कर लिया गया और उन्होंने शिखर धवन के साथ चैंपियंस ट्राफी में ओपनिंग करते हुए भारत को चैंपियंस ट्राफी जिताने में अहम भूमिका निभाई थी।
  • इसके बाद साल 2013 में ही रोहित शर्मा ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए अपने करियर का पहला दोहरा शतक जड़ा था। इसके बाद आगे भी रोहित ने अपने ताबड़तोड़ खेल को जारी रखते हुए श्रीलंका के खिलाफ दो और भी बेहतरीन दोहरे शतक लगाये थे। तीन दोहरे शतक लगाने वाले रोहित शर्मा विश्व के एकमात्र बल्लेबाज है। इसके बाद रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ टी 20 में खेलते हुए 35 गेंदों में शानदार 100 रन बनाकर सबसे तेज शतक लगाने के रिकोर्ड की बराबरी की है।

Rohit Sharma का निजी जीवन:

चलिए अब हम बता करते है रोहित शर्मा के निजी जीवन के बारे में। रोहित शर्मा जो की भारत के लिए वर्तमान में सबसे महत्वपूर्ण खिलाडी और ताबड़तोड़ बल्लेबाज भी है।  उन्होंने साल 2015 में रितिका सजदेह से शादी की है। अभी रोहित तथा रितिका की एक बेटी भी है जिसका नाम Samaira Sharma है।

रिकार्ड्स:

  • रोहित शर्मा एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने एकदिवसीय इतिहास में तीन दोहरे शतक लगाए हैं।
  • रोहित ने सचिन तेंदुलकर के सबसे अधिक छक्के (40 छक्के) का रिकॉर्ड कैलेंडर वर्ष में 41 छक्कों के साथ तोड़ दिया।
  • रोहित शर्मा इंडियन प्रीमियर लीग में चार आईपीएल खिताब जीतने वाले इकलौते कप्तान भी है।
  • रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 50 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ भारतीय बल्लेबाज है।
  • किसी भी द्विपक्षीय श्रृंखला में रोहित शर्मा एकमात्र खिलाडी है, जिन्होंने वनडे में सबसे अधिक 499 रन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाए थे।

पुरस्कार:

  • 2015 में रोहित शर्मा को अर्जुन पुरस्कार से नवाजा गया जो हर साल भारत सरकार द्वारा भारत के किसी राष्ट्रीय स्तर पर अच्छा प्रदर्शन करने वालों को दिया जाता है।
  • वनडे में 2 दोहरे शतक लगाने के लिए रोहित शर्मा को साल 2013 और 2014 में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के लिए ESPN ने सम्मानित किया था।
  • दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 में शतक के लिए साल 2015 में रोहित शर्मा को ESPN ने टी-20 के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के लिए पुरस्कृत किया है।
  • साल 2019 में Ceat Tyre ने रोहित शर्मा को वनडे क्रिकेट में प्लेयर ऑफ द ईयरके पुरस्कार से सम्मानित किया है ।

निष्कर्ष:

रोहित शर्मा हमारे देश की उन बेहतरीन क्रिकेटरों में से एक है। जिनकी बल्लेबाजी के प्रशंसक भारत के साथ साथ विदेशो में भी बहुत अधिक संख्या में मौजूद है। रोहित शर्मा वर्तमान समय के सबसे ताबड़तोड़ बल्लेबाजो में से एक है। उन्होंने क्रिकेट जगत में यह मुकाम अपनी कड़ी मेहनत के दम पर ही हासिल किया है। भविष्य में एक सफल क्रिकेटर बनने वाले युवाओ के लिए रोहित शर्मा एक बेहतरीन आदर्श है। हमें उम्मीद है की आपको Rohit Sharma Biography In Hindi तथा रोहित शर्मा का सम्पूर्ण जीवन परिचय पर यह बेहतरीन आर्टिकल अवश्य ही पसंद आया है।

 

हमारे लेटेस्ट आर्टिकल्स को पढ़ना बिलकुल न भूले:-

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hostinger

Advertisement