Connect with us

Chalisa

कुबेर चालीसा: Kuber Chalisa, Lyrics, Aarti, Mantra, Benefits in Hindi

Kuber Chalisa in Hindi

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः॥

ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं कुबेराय अष्ट-लक्ष्मी मम गृहे धनं पुरय पुरय नमः॥

ॐ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धनधान्याधिपतये॥

धनधान्यसमृद्धिं मे देहि दापय स्वाहा॥

आप सभी जानते है कि, धन के देवता के तौर पर भगवान कुबेर, तीनों लोको में, सर्व-प्रसिद्ध व उदार है व साथ ही साथ उन्हें देवताओं के कोषाध्यक्ष होने का गौरव भी प्राप्त है इसीलिए कहा जाता है कि, जो भक्तजन नियमित रुप से भगवान कुबेर की पूजा-आराधना व कुबेर चालीसा का पाठ करते है उन्हें आजीवन धन की कमी नहीं होती है और आपको भी कभी धन की कमी ना हो इसे सुनिश्चित करने के लिए हम, अपने इस आर्टिकल में, अपने सभी कुबेर भक्तों को विस्तार से कुबेर चालीसा का पाठ प्रदान करेंगे।

इंसानी जीवन में, धन का महत्व अत्यधिक होता है और धन की प्राप्ति के लिए ही इंसान, आजीवन संघर्ष करता रहता है लेकिन आमतौर पर उन्हें सफलता प्राप्त नहीं होती है क्योंकि जिस प्रकार जल की प्राप्ति के लिए भूमि में गहराई तक खुदाई करनी होती है ठीक उसी प्रकार धन की प्राप्ति के लिए सभी मनुष्यों को अथक प्रयास के साथ ही साथ धन के देवता भगवान कुबेर की भी पूजा व आराधना करनी चाहिए।

भले ही आप कठोर से कठोर परिश्रम कर लें लेकिन यदि आप धन के देवता भगवान कुबेर की पूजा नहीं करते हैं तो आपको आजीवन धन की समस्या बनी रहेगी लेकिन आपके साथ ऐसा ना हो और आप व आपके पूरे परिवार को धन की कभी कमी ना हो इसी उद्धेश्य से हम, अपने इस आर्टिकल में, आप सभी को विस्तार से कुबेर चालीसा का पाठ प्रदान करेंगे ताकि आप सभी नियमित तौर पर कुबेर चालीसा का पठन-पाठन कर सकें।

अपने सभी कुबेर भक्तो को विस्तार से कुबेर चालीसा का सम्पूर्ण पाठ प्रदान करें ताकि हमारे भक्तजन नियमित तौर पर कुबेर चालीसा का पाठ करके भगवान कुबेर का आर्शीवाद प्राप्त कर सकें और धन की कमी की समस्या को सदा के लिए दूर कर सकें क्योंकि यही हमारे इस आर्टिकल का लक्ष्य है।

कुबेर चालीसा का महत्व क्या है?

हम, अपने सभी कुबेर भक्तो को विस्तार से कुछ बिंदुओं की मदद से कुबेर चालीसा के महत्व से अवगत करवायेंगे जो कि, इस प्रकार से हैं:-

  • कुबेर चालीसा के पठन-पाठन से घर-परिवार में, सुख-शांति व सौभाग्य-समृद्धि का वास होता है

हम, आप सभी को बता दें कि, जिस घर में, भगवान कुबेर की पूजा के साथ ही साथ नियमित तौर पर कुबेर चालीसा का पठन-पाठन होता है उस घर-परिवार में, सुख-शांति व सौभाग्य-समृद्धि का स्थायी वास होता है और उस परिवार का भविष्य उज्जवल होता है।

  • कुबेर चालीसा के नियमित पाठ से धन की कभी कमी नहीं होती है

कुबेर चालीसा का सर्वाधिक महत्व तो यही है कि, कुबेर चालीसा के नियमित पठन-पाठन से कुबेर भक्तो को आजीवन धन की कमी जैसी भीषण समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है बल्कि उन्हें पर्याप्त मात्रा में, धन की प्राप्ति होती रहती है।

  • व्यवसाय व व्यापार की शुरुआत कुबेर चालीसा के पाठ से करें और लाभ ही लाभ पायें

हम, विशेष तौर पर अपने उन भक्तों को बताना चाहते हैं जो कि, अपना कोई व्यवसाय या फिर व्यापार शुरु करना चाहते है कि, उन्हें अपने व्यवसाय या व्यापार की शुरुआत कुबेर चालीसा के पाठ से करनी चाहिए जिससे ना केवल उनका व्यापार बढ़ेगा बल्कि उन्हें भारी मात्रा मे, सफलता व धन की प्राप्ति होगी।

  • कुबेर चालीसा के पाठ से घर में, चिन्ताओं का नाश होगा

कुबेर चालीसा के पाठ का एक अन्य महत्व यह है कि, कुबेर चालीसा का पाठ करने से भक्तो के घरो से सभी प्रकार की चिन्ताओं का नाश हो जाता है और घर में, सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जिससे पूरे परिवार में, खुशहाली की लहर दौड़ जाती है।

  • दीपावली के दिन कुबेर चालीसा का पाठ करना अत्यन्त फलदायक सिद्ध होता है

वैसे को आप कुबेर चालीसा का पाठ निमयित ढंग से भी कर सकते है लेकिन दीपावली के दिन कुबेर चालीसा का पाठ करने का अपना ही एक विशेष महत्व होता है क्योंकि दीपावली के दिन कुबेर चालीसा का पाठ करने से भक्तजनों को विशेष तौर पर लाभ प्राप्त होता है जिससे उनका पूरा जीवन सफल व सार्थक हो जाता है आदि।

Kuber Chalisa Benefits: कुबेर चालीसा के फायदें

अब हम, आप सभी को कुछ बिंदुओँ की मदद से कुबेर चालीसा के फायदों से परिचित करवायेंगे जो कि, इस प्रकार से हैं

  1. कुबेर चालीसा के पाठ से भक्तजनों को कभी धन की कमी या फिर धन की समस्या नहीं होती है,
  2. कुबेर चालीसा का पाठ करने से घर मे, सुख-शांति, सौभाग्य व धन की प्राप्ति होती है,
  3. कुबेर चालीसा के पाठ से किसी भी व्यवसाय या व्यापार की शुरुआत करने पर निसंदेह सफलता प्राप्त होती है,
  4. कुबेर चालीसा का पाठ करने से घर की चिन्ताओं का नाश होता है और घर में, खुशहाली की लहर दौड़ जाती है और
  5. कुबेर चालीसा का पाठ करने से भक्तजनों को मानसिक शांति व संतोष की प्राप्ति होती है आदि।

कुबेर चालीसा से भगवान कुबेर की पूजा कब करनी चाहिए?

हमारे भक्त बड़ी ही श्रद्धा व भक्ति से नियमित तौर पर कुबेर चालीसा का पाठ करते है लेकिन फिर भी उन्हें फल की प्राप्ति नहीं होती है जिसकी मूल वजह यह है कि, उन्हें नहीं पता होता है कि, भगवान कुबेर की पूजा, कुबेर चालीसा से कब करनी चाहिए।

हम, अपने सभी भक्तजनों को बता दें कि, कुबेर चालीसा के पाठ से भगवान कुबेर की पूजा सुबह के समय करनी चाहिए और दीपावली के दिन तो विशेष तौर पर कुबेर चालीसा से भगवान कुबेर की पूजा करनी चाहिए जिससे नि-संदेह आपको फल व लाभ की प्राप्ति होगी।

कुबेर चालीसा से भगवान कुबेर की पूजा करने की विधि क्या है?

  1. सबसे पहले आप अपने घर में, किसी एकान्त स्थान का चयन करें,
  2. इसके बाद उस एकान्त स्थान को गंगाजल से पवित्र करें,
  3. अब इस स्थान पर एक पवित्र लाल रंग का वस्त्र बिछायें,
  4. श्रद्धापूर्वक उस लाल कपड़े पर अक्षत रखें,
  5. अब आपको भगवान श्री. गणेश, माता लक्ष्मी व कुबेर जी की मूर्तियों को यहां पर स्थापित करना होगा,
  6. जब आप पूजा करें तो तमाम कीमती वस्तुओं व आभूषणों को कुबेर जी के सामने रखें,
  7. अब कुबेर चालीसा का श्रद्धापूर्वक पाठ करें,
  8. मिठाई का भोग लगायें व धूप-दीप से आरती करें,
  9. अन्त में, स्वच्छ जलार्पण करें और अपनी हर गलती के लिए क्षमा मांगते हुए अपना आर्शीवाद व कृपा बनाये रखने का आर्शीवाद मांगे आदि।

Kuber Chalisa in Hindi: कुबेर चालीसा का पूरा पाठ हिंदी में

॥ दोहा ॥

जैसे अटल हिमालय और जैसे अडिग सुमेर ।
ऐसे ही स्वर्ग द्वार पै, अविचल खड़े कुबेर ॥

विघ्न हरण मंगल करण, सुनो शरणागत की टेर ।
भक्त हेतु वितरण करो, धन माया के ढ़ेर ॥

॥ चौपाई ॥

जै जै जै श्री कुबेर भण्डारी ।
धन माया के तुम अधिकारी ॥

तप तेज पुंज निर्भय भय हारी ।
पवन वेग सम सम तनु बलधारी ॥

स्वर्ग द्वार की करें पहरे दारी ।
सेवक इंद्र देव के आज्ञाकारी ॥

यक्ष यक्षणी की है सेना भारी ।
सेनापति बने युद्ध में धनुधारी ॥

महा योद्धा बन शस्त्र धारैं ।
युद्ध करैं शत्रु को मारैं ॥

सदा विजयी कभी ना हारैं ।
भगत जनों के संकट टारैं ॥

प्रपितामह हैं स्वयं विधाता ।
पुलिस्ता वंश के जन्म विख्याता ॥

विश्रवा पिता इडविडा जी माता ।
विभीषण भगत आपके भ्राता ॥

शिव चरणों में जब ध्यान लगाया ।
घोर तपस्या करी तन को सुखाया ॥

शिव वरदान मिले देवत्य पाया ।
अमृत पान करी अमर हुई काया ॥

धर्म ध्वजा सदा लिए हाथ में ।
देवी देवता सब फिरैं साथ में ॥

पीताम्बर वस्त्र पहने गात में ।
बल शक्ति पूरी यक्ष जात में ॥

स्वर्ण सिंहासन आप विराजैं ।
त्रिशूल गदा हाथ में साजैं ॥

शंख मृदंग नगारे बाजैं ।
गंधर्व राग मधुर स्वर गाजैं ॥

चौंसठ योगनी मंगल गावैं ।
ऋद्धि सिद्धि नित भोग लगावैं ॥

दास दासनी सिर छत्र फिरावैं ।
यक्ष यक्षणी मिल चंवर ढूलावैं ॥

ऋषियों में जैसे परशुराम बली हैं ।
देवन्ह में जैसे हनुमान बली हैं ॥

पुरुषोंमें जैसे भीम बली हैं ।
यक्षों में ऐसे ही कुबेर बली हैं ॥

भगतों में जैसे प्रहलाद बड़े हैं ।
पक्षियों में जैसे गरुड़ बड़े हैं ॥

नागों में जैसे शेष बड़े हैं ।
वैसे ही भगत कुबेर बड़े हैं ॥

कांधे धनुष हाथ में भाला ।
गले फूलों की पहनी माला ॥

स्वर्ण मुकुट अरु देह विशाला ।
दूर दूर तक होए उजाला ॥

कुबेर देव को जो मन में धारे ।
सदा विजय हो कभी न हारे ।

बिगड़े काम बन जाएं सारे ।
अन्न धन के रहें भरे भण्डारे ॥

कुबेर गरीब को आप उभारैं ।
कुबेर कर्ज को शीघ्र उतारैं ॥

कुबेर भगत के संकट टारैं ।
कुबेर शत्रु को क्षण में मारैं ॥

शीघ्र धनी जो होना चाहे ।
क्युं नहीं यक्ष कुबेर मनाएं ॥

यह पाठ जो पढ़े पढ़ाएं ।
दिन दुगना व्यापार बढ़ाएं ॥

भूत प्रेत को कुबेर भगावैं ।
अड़े काम को कुबेर बनावैं ॥

रोग शोक को कुबेर नशावैं ।
कलंक कोढ़ को कुबेर हटावैं ॥

कुबेर चढ़े को और चढ़ादे ।
कुबेर गिरे को पुन: उठा दे ॥

कुबेर भाग्य को तुरंत जगा दे ।
कुबेर भूले को राह बता दे ॥

प्यासे की प्यास कुबेर बुझा दे ।
भूखे की भूख कुबेर मिटा दे ॥

रोगी का रोग कुबेर घटा दे ।
दुखिया का दुख कुबेर छुटा दे ॥

बांझ की गोद कुबेर भरा दे ।
कारोबार को कुबेर बढ़ा दे ॥

कारागार से कुबेर छुड़ा दे ।
चोर ठगों से कुबेर बचा दे ॥

कोर्ट केस में कुबेर जितावै ।
जो कुबेर को मन में ध्यावै ॥

चुनाव में जीत कुबेर करावैं ।
मंत्री पद पर कुबेर बिठावैं ॥

पाठ करे जो नित मन लाई ।
उसकी कला हो सदा सवाई ॥

जिसपे प्रसन्न कुबेर की माई ।
उसका जीवन चले सुखदाई ॥

जो कुबेर का पाठ करावै ।
उसका बेड़ा पार लगावै ॥

उजड़े घर को पुन: बसावै ।
शत्रु को भी मित्र बनावै ॥

सहस्त्र पुस्तक जो दान कराई ।
सब सुख भोद पदार्थ पाई ॥

प्राण त्याग कर स्वर्ग में जाई ।
मानस परिवार कुबेर कीर्ति गाई ॥

॥ दोहा ॥

शिव भक्तों में अग्रणी, श्री यक्षराज कुबेर ।
हृदय में ज्ञान प्रकाश भर, कर दो दूर अंधेर ॥

कर दो दूर अंधेर अब, जरा करो ना देर ।
शरण पड़ा हूं आपकी, दया की दृष्टि फेर ।

॥ इति श्री कुबेर चालीसा समाप्त ॥

Kuber Chalisa Lyrics in Hindi

Doha

Jaise Atal Himalay Aur Jaise Adig Sumer
Aise Hi Swarg Dwar Pai,Avichal Khade Kuber
Vighn Haran Mangal Karan, Suno Sharanagat Ki Ter
Bhakt Hetu Vitaran Karo, Dhan Maya Ki Dher

Chaupai

Jai Jai Jai Shri Kuber Bhandari
Dhan Maya Ke Tum Adhikari

Tap Tej Punj Nirbhay Bhay Hari
Pavan Veg Sam Sam Tanu Baladhari

Swarg Dwar Ki Karein Pahare Dari
Sevak Indra Dev Ke Agyakari

Yaksha Yakshani Ki Hai Sena Bhari
Senapati Bane Yuddh Me Dhanudhari

Maha Yoddha Ban Shastr Dharain
Yuddh Karain Shatru Marain

Sada Vijayi Kabhi Na Harain
Bhagat Jano Ke Sankat Tarain

Prapitamah Hain Swayam Vidhata
Pulist Vansh Ke Janm Vikhyata

Vishrava Pita Idavida Ji Mata
Vibhishan Bhagat Apake Bhrata

Shiv Charano Me Jab Dhyan Lagaya
Ghor Tapasya Kari Tan Sukhaya

Shiv Varadan Mile Devaty Paya
Amrit Pan Kari Amar Kaya

Dharm Dhwaja Sada Liye Hath Me
Devi Devata Sab Phirain Sath Me

Pitambar Vastra Pahane Gath Me
Bal Shakti Poori Yaksha Jat Me

Swarn SInhasan Ap Virajain
Trishul Gada Hath Me Sajain

Shankh Mridang Nagare Bajain
Gandharv Rag Madhur Gajain

Chausath Yogani Mangal Gavain
Riddhi Siddhi Nit Bhog Lagavain

Das Dasini Sir Chhatra Phiravain
Yaksha Yakshani Mol Chanvar Dhulavain

Rishiyom Me Jaise Parashuram Bali Hain
Devanh Me Jaise Hanuman Bali Hain

Purusho Me Jaise Bhim Bali Hain
Yaksho Me Aise Hi Kuber Bali Hain

Bhagato Me Jaise Prahlad Bade hain
Pakshiyo Me Jaise Garud Bade hain

Nagon Me Jaise Shesh Bade hain
Vaise Hi Bhagat Kuber Bade hain

Kandhe Dhanush Hath Me BHala
Gale Phoolon Ki Pahani Mala

Swarn Mukut Aru Deh Vishala
Door Door Tak Hoye Ujala

Kuber Dec Ko Jo Man Dhare
Sada Vijayi Ho Kabhi Na Hare

Bigade Kam Bane Jaye Sare
Anna Dhan Ke Eahe Bhare Bhandare

Kuber Garib Ko Ap Ubharain
Kuber Karj Ko shighra Utarain

Kuber Bhagat Ke Sankat Tarain
Kuber Shatru Ko Kshan Me Marain

Shighr Dhani Jo Hona Chahe
Kyun Nahi Yaksha Kuber Manaye

Yah Path JO Padhe Padhaye
Din Dugana VYapar Badhaye

Bhoot Prete Ko Kuber Bhagavain
Ade Kam Ko Kuber Banavain

Rog Shok Ko Kuber Nashavain
Kalank Koodh Ko Kuber Hatavain

Kuber Chadhe Ko Aur Chadha De
Kuber Gire Ko Punah Utha De

Kuber Bhagya Ko Turant Jaga De
Kuber Bhule Ko Rah Bata De

Pyase Ki Pyas Kuber Bujha De
Bhukhe Ki Bhukh Kuber Mita De

Rogi Ka Rog Kuber Ghata De
Dukhiya Ka Dukh Kuber Chhuta De

Banjh Ki God Kuber Bhara De
Karobar Ko Kuber Badha De

Karagar Se Kuber Chhuda De
Chor Thago Se Kuber Bacha De

Kort Kes Me Kuber Jitavai
Jo Kuber Ko Man Me Dhyavai

Chunav Me Jit Kuber Karavain
Mantri Pad Par Kuber Bithavain

Path Kare Jo Nit Man Lai
Uasaki Kala ho Sada Savai

Jisape Prasann Kuber Ki Mai
Usaka Jivan Chale Sukhadai

Jo Kuber Ka Path Karavai
Usaka Beda Par Lagavai

Ujade Ghar Ko PUnah Basavai
Shatru Ko Mitra Banavai

Sahastr Pustak Jo Dan karai
Sab Sukh Bhog Padarth Pai

Pran Tyag Kar Swarg Me Jai
Manas Parivar Kuber Kirti Gai

Doha

Shiv Bhakto Me Agrani,
Shri Yaksharaj Kuber

Hriday Me Gyan Prakash Bhar,
Kar Do Door Andher

Kar Do Door Andher Ab,
Jara Karo Na Der

Sharan Pada Hoon Apaki,
Daya Ki Drishti Pher

।। Iti Shree Kuber Chalisa Ends ।।

 

भगवान कुबेर जो कि, धन के देवता माने जाते है और साथ ही साथ सुख-सौभाग्य के प्रदाता भी माने जाते है उन्हें समर्पित अपने इस आर्टिकल में, हमने अपने सभी कुबेर भक्तो को कुबेर चालीसा का सम्पूर्ण पाठ, कुबेर चालीसा के महत्व, कुबेर चालीसा से भगवान कुबेर की पूजा करने की पूरी विधि की जानकारी प्रदान की ताकि हमारे सभी कुबेर भक्तजन, कुबेर चालीसा का नियमित पाठ करके भगवान कुबेर का आर्शीवाद व लाभ प्राप्त करके अपना व अपनो के जीवन को सफल बना सकें।

अन्त, हमें, आशा है कि, आपको हमारा ये आर्टिकल Kuber Chalisa जरुर पसंद आया होगा जिसके लिए आप हमारे इस आर्टिकल को लाइक करेंगे, शेयर करेंगे व अपने विचार और सुझाव कमेंट करके हमें, बतायेंगे ताकि हम, इसी तरह के आर्टिकल आपके लिए लाते रहें।

 

सम्बंधित जानकारी को भी जरूर देखें:

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING POSTS

Mallika Singh Biography Mallika Singh Biography
Bio-Wiki2 weeks ago

Mallika Singh Biography, Wiki, Age, Height, Family, Career, Net Worth

मल्लिका सिंह एक भारतीय टेलीविजन अभिनेत्री हैं जिन्होने अपने बेहतरीन अभिनय कौशल के चलते काफी कम समय में टेलीविजन इंडस्ट्री...

Sandeep Maheshwari Quotes Hindi Sandeep Maheshwari Quotes Hindi
Hindi4 weeks ago

Sandeep Maheshwari Quotes Hindi: संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय

भारत के टॉप Entrepreneur की लिस्ट में एक है। Sandeep Maheshwari भारत के सबसे तेज उन्नति और सफलता प्राप्त करने...

Shani Chalisa Lyrics in Hindi Shani Chalisa Lyrics in Hindi
Chalisa4 weeks ago

शनि चालीसा: Shani Chalisa, Aarti, Path, Mantra, Lyrics, Benefits in Hindi

“महिमा शनि देव की जब होती है। रंक को राजा करने मे वक़्त की गति भी बढ़ती है।।” हमारा भारतवर्ष...

Shiv Chalisa in Hindi Shiv Chalisa in Hindi
Chalisa4 weeks ago

शिव चालीसा: Shiv Chalisa, Lyrics, Aarti, Mantra, Benefits in Hindi

“अकाल मृत्यु वह मरे, जो काम करे चंडाल का काल उसका क्या करे , जो भक्त हो महाकाल का।।” देवों...

Kuber Chalisa in Hindi Kuber Chalisa in Hindi
Chalisa1 month ago

कुबेर चालीसा: Kuber Chalisa, Lyrics, Aarti, Mantra, Benefits in Hindi

“ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय नमः॥ ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं कुबेराय अष्ट-लक्ष्मी मम गृहे धनं पुरय पुरय...

Hindi Diwali Wishes Image Hindi Diwali Wishes Image
Diwali1 month ago

Diwali Wishes In Hindi: दिवाली की शुभकामनाएं संदेश…!

दीवाली प्रेम और सौहार्द का त्योहार है। ये बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व है। ये दुखों को हटाने...

Diwali Quotes In Hindi Diwali Quotes In Hindi
Diwali1 month ago

Diwali Quotes in Hindi: दीवाली के उद्धरण – दीपावली कोट्स हिन्दी मे..!

दीवाली के पर्व पर हमें अपने अंदर की कमियों को खत्म करने का प्रयास करना चाहिए। हमे इस दिन अपनी...

Deepawali Essay in Hindi Deepawali Essay in Hindi
Essay2 months ago

Deepawali Essay in Hindi: दीपावली के त्यौहार पर निबंध हिन्दी मे..!

“दीयों की रौशनी से झिलमिलाता आंगन हो, पटाखों की गूंज से आसंमा रौशन हो। ऐसी आये झूम के दीवाली, हर...

Friendship Day Quotes Friendship Day Quotes
Hindi2 months ago

Best Friendship Day Quotes In Hindi: फ्रेंडशिप डे कोट्स हिन्दी मे..!

दोस्ती! भगवान ने हमें मां-बाप और फैमिली चुनने का तो अवसर नहीं दिया और इसका मतलब यह कतई नहीं कि...

Hindi Diwas Quotes Hindi Diwas Quotes
Education3 months ago

हिंदी दिवस कोट्स: Hindi Diwas Quotes, Suvichar, Anmol Vachan & Poems

हिंदी हमारी मातृभाषा है और इस भाषा की सबसे खास विशेषता यह है कि यह जैसी बोली जाती है वैसी...

Advertisement